Breaking News
.

धर्मेन्द्र को मिला था अमेरिका जाने का मौका, एक्टर बनने के लिए बालकनी में गुजारते थे रात…

नई दिल्ली। बॉलीवुड हीमैन धर्मेंद्र  ने अपनी फिल्मों और अपने अंदाज से हिंदी सिनेमा में जबरदस्त पहचान बनाई है. एक्टर ने कई हिट फिल्में दी है. लेकिन बॉलीवुड में कदम रखने से पहले धर्मेंद्र एक अमेरिकन ड्रिलिंग कंपनी के साथ काम करते थे. इतना ही नहीं, उन्हें अमेरिका जाने का भी ऑफर मिला था, लेकिन उन्होंने इसे ठुकराते हुए मुंबई आने का फैसला किया था. यहां आकर एक्टर किराये की बालकनी में रहते थे.

 

धर्मेंद्र  से जुड़ी इस बात का खुलासा खुद उनके बेटे बॉबी देओल ने एक इंटरव्यू में किया था. बॉबी देओल ने पिता के बारे में कहा था, ‘मैंने पापा की पहली फिल्म ‘दिल भी तुम्हारा हम भी तुम्हारे’ देखी थी, जिसमें वह काफी कमजोर लग रहे थे. वह लंबे समय के संघर्षों के बाद फिल्मों में नजर आ रहे थे. दिनभर में केवल एक बार खाना खाते थे और निर्माताओं को तस्वीरें दिखाने के लिए मीलों दूर पैदल जाते थे.’

 

धर्मेंद्र के बारे में बात करते हुए बॉबी देओल ने आगे कहा था, ‘फिल्मों में आने से पहले वह एक अमेरिकन ड्रिलिंग कंपनी में काम करते थे और उन्हें अमेरिका जाने का भी ऑफर दिया गया था. लेकिन उन्होंने साफ मना कर दिया था, क्योंकि उनका दिल तो फिल्मों में लगा हुआ था. मुझे नहीं मालूम कि इतनी सही नौकरी को ठुकराने की हिम्मत उन्हें किसने दी थी.’

 

पिता के संघर्षों को याद करते हुए बॉबी देओल ने आगे कहा था, ‘मुंबई आने के लिए उन्होंने सब कुछ छोड़ दिया था. जब वह यहां पहुंचे थे तो उनके पास रहने के लिए घर तक नहीं था. कुछ समय के लिए वह किसी की बालकनी में किराएदार के तौर पर रहते थे. खाने की कमी की वजह से उनका वजन काफी कम हो गया था. लेकिन इसके बाद भी वह अपनी सारी जमा-पूंजी घर भेज दिया करते थे. यह भले ही फिल्मी कहानी लग रही हो, लेकिन असल में यह सच है.’

 

बता दें कि धर्मेंद्र  ने फिल्मों में डेब्यू का फैसला दिलीप कुमार की फिल्म देखने के बाद किया था. इस बारे में उन्होंने सबसे पहले अपनी मां से बताया था. लेकिन बेटे की बातें सुनने के बाद मां ने उनका मुंह बंद कर दिया था और कहा था, ‘तुम्हारे बाऊजी तुम्हारे साथ-साथ मुझे भी घर से बाहर निकाल देंगे.’

error: Content is protected !!