Breaking News
.

13 अप्रैल 2022 तक देवगुरु बृहस्पति रहेंगे शनि की इस राशि में, सभी राशियों पर पड़ेगा इसका असर…

शनिवार, 20 नवंबर को रात 11 बजकर 17 मिनट पर देवगुरु बृहस्पति अपनी नीच राशि मकर को छोड़कर शनि की मूल त्रिकोण राशि कुंभ में प्रवेश कर गए हैं। यहां वे 13 अप्रैल 2022 की देर शाम तक रहने के बाद अपनी ही राशि मीन में प्रवेश करेंगे।

कर्क, धनु और मीन राशि में बृहस्पति सर्वाधिक शक्तिशाली होते हैं। वे जीवनसाथी के सुख, धर्म, संतान, विद्या, बड़े भाई, सोना, ज्योतिष आदि के कारक माने जाते हैं। पंच महापुरुष राजयोग में हंस राजयोग गुरु के मीन राशि में जाने से बनेगा। आइए जानते हैं कि गुरु के कुंभ राशि में प्रवेश से किन राशियों पर कैसा प्रभाव होगा:

मेष : संतान सुख में वृद्धि संभव। पदोन्नति मिल सकती है। रुके हुए कार्य पूरे हो सकते हैं।

वृष : आजीविका की समस्या हो सकती है। धन की कमी से तनाव हो सकता है। रोजगार में सम्मान कम हो सकता है। आवेश में गलत निर्णय न लें।

मिथुन : भाग्य में वृद्धि होगी। रुके हुए कार्यों में सफलता मिलेगी। धार्मिक कार्यो में मन रमेगा। रुकी हुई पदोन्नति मिल सकती है।

कर्क : यात्राओं में कम लाभ से तनाव रहेगा। निवेश गलत जगह हो सकता है। संपत्ति विवाद में हानि हो सकती है। जीवनसाथी-परिजनों से विवाद हो सकता है।

सिंह : विदेश यात्रा हो सकती है। वैवाहिक सुख में वृद्धि के साथ-साथ धन प्राप्त होगा। संतान सुख में वृद्धि होगी। पदोन्नति की संभावना है।

कन्या : शत्रुओं से कष्ट मिल सकता है। नौकरी छूटने का भय रहेगा। व्यापार में हानि हो सकती है। अचानक रोग हो सकते हैं।

तुला : शुभ फलों में वृद्धि। संतान सुख मिलेगा। उच्च शिक्षा में प्रगति होगी। अचानक राजकृपा प्राप्त होगी। विवाह हो सकता है।

वृश्चिक : रिश्तेदारों से तनाव मिल सकता है। वाहन-मकान को लेकर चिंता हो सकती है।

धनु : निकट सम्बधियों से वियोग संभव। सेहत को लेकर चिंता हो सकती है। धन सम्बंधी विवाद हो सकता है।

मकर : धन मिलेगा। विद्वतापूर्ण वाणी के द्वारा कार्य में सफलता संभव। परिवार सुख मिलेगा। पदोन्नति की संभावना है।

कुंभ : देश या अपने स्थान से बाहर जाना हो सकता है। व्यय बढ़ सकता है। निकट सम्बंधियों से मनमुटाव की आशंका रहेगी।

मीन : धन खोने का भय। चिंताएं परेशान करेंगी। खर्च बढ़ सकता है। गलत निर्णय हो सकते हैं।

 

error: Content is protected !!