Breaking News
.

प्रदेश में बढ़े डेंगू के मरीज, आंकड़ा हुआ 12 हजार के पार…

प्रदेश में डेंगू अपना पैर पसार रहा है। अब  तक मरीजों की संख्या 12 हजार के पार पहुंच चुकी है। नवंबर के शुरूआती दो दिनों में 361 मरीज मिले है। ग्वालियर डेंगू का हॉटस्पॉट बना हुआ है। यहां 1 और 2 नवंबर को 72 मरीज मिले हैं। वहीं, कुल मरीजों की संख्या प्रदेश में सबसे ज्यादा 1539 पहुंच गई है। मंदसौर में ग्वालियर के बाद 1244 डेंगू मरीज मिले हैं। बता दें इससे पहले प्रदेश में 2009 में डेंगू मरीजों की संख्या 10 हजार को पार की थी। पिछले साल यह आंकड़ा सिर्फ 806 था। वहीं, प्रदेश के 30 जिलों में 100 से ज्यादा डेंगू के मरीजों की संख्या पहुंच गई है।

अक्टूबर में सबसे ज्यादा मरीज मिले

अक्टूबर में प्रदेश में 5303 मरीज मिले हैं। इसमें अकेले ग्वालियर में ही 1 हजार से ज्यादा मरीज मिले हैं। पहले सितंबर माह में प्रदेश में 4016 मरीज मिले थे। नवंबर के शुरुआती दो दिन में सबसे ज्यादा मरीज ग्वालियर में 72 , उज्जैन में 37, दमोह में 24 मरीज सामने आए हैं।

सरकारी रिकॉर्ड में पांच मौतें

प्रदेश में डेंगू के मरीजों की कई शहरों में मौत के मामले सामने आए हैं। इसके बावजूद सरकारी रिकॉर्ड में अब तक सिर्फ पांच मौतें ही रिपोर्ट की गई हैं। इसमें सबसे ज्यादा आगर में 2 एवं इंदौर, सिवनी, रीवा जिले में 1-1 मौत रिपोर्ट है। अकेले रतलाम में ही 10 से ज्यादा लोगों की मौत डेंगू से हुई है। वहीं, भोपाल में भी एक मौत डेंगू से होने की बात सामने आई है।

भोपाल में 2 लाख से ज्यादा घरों में डेंगू का लार्वा मिला

प्रदेश में पिछले दिनों बारिश के कारण लार्वा को पनपने के अनुकूल स्थिति बन गई। सरकार डेंगू के खिलाफ जंग अभियान चला रही है। इसमें लार्वा के सर्वे से लेकर उसको मारने के लिए फॉगिंग की जा रही है। लोगों को छत पर बर्तनों, गमले समेत अन्य जगह पानी एकत्रित होने से रोकने के लिए जागरूक किया जा रहा है। यहीं कारण है कि भोपाल में 2 लाख से ज्यादा घरों में सर्वे करने पर 15 हजार से ज्यादा घरों में लार्वा मिला।

6477 मरीज अस्पताल में भर्ती हुए

2 नवंबर की सरकारी रिपोर्ट के अनुसार, करीब 12 हजार डेंगू मरीजों में से अब तक 6477 मरीज अस्पताल में भर्ती हुए। इसमें से अब तक 5854 मरीज ठीक हो चुके हैं। अभी अस्पताल में 400 से अधिक मरीज भर्ती हैं। मध्यप्रदेश स्वास्थ्य विभाग के डिप्टी डॉयरेक्टर हिमांशु जायसवार ने कहा कि सितंबर माह में जब दूसरे शहरों में सबसे अधिक डेंगू के मामले आ रहे थे, तब ग्वालियर में मामले कम थे। अक्टूबर माह में ग्वालियर में ज्यादा मामले आ रहे है। ग्वालियर में डेंगू के मामलों को कंट्रोल करने के लिए कदम उठाए जा रहे है। लोगों को जागरूक कर रहे है। नवंबर माह में डेंगू कंट्रोल में आ जाएंगा।

डॉ. जायसवार ने लोगों से घरों में साफ-सफाई रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि घरों में गमले का पानी एक सप्ताह में बदलते रहे। छत पर बर्तनों को पानी एकत्रित होने पर उसे तुरंत साफ करें। यह जांच करते रहे। घरों में पानी की टकिंयों को ढक कर रखे। अपने घर के आसपास पानी एकत्रित न होने दें।

error: Content is protected !!