Breaking News
.

दिल्ली दरबार: झारखंड की सियासत में भी मची है खलबली, हेमंत सोरेन के सामने है चुनौती …

नई दिल्ली (पंकज यादव) । झारखंड में महागठबंधन की सरकार का नेतृत्व कर रहे झारखंड मुक्ति मोर्चा के कोटे से मुख्यमंत्री बने हेमंत सोरेन के सामने भी मुश्किले कम नहीं हैं। कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल के स्थानीय नेताओं को साधने में उनके भी पसीने छूट रहे हैं। दिल्ली दौरे पर आए हेमंत सोरेन क्या राज्य के नेताओं से मिल रही चुनौती का समाधान निकाल पाएंगे यह कह पाना अभी मुश्किल है।

दरअसल कहा यह जा रहा है कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन दिल्ली दौरे के दौरान प्रधानमंत्री और केंद्रीय मंत्रियों से मिलकर राज्य के विकास के लिए बकाये धनराशि की मांग करेंगे। इसके अलावा कुछ विकास के कार्यों को लेकर भी चर्चा होगी। लेकिन सबसे महत्वपूर्ण चर्चा है कि क्या कांग्रेस के शीर्ष नेताओं से मिलकर महागठबंधन की सरकार सुचारू रूप से चले इसको लेकर भी चर्चा होगी। लेकिन सूत्र बता रहे हैं कि हेमंत सोरेन प्रदेश सरकार चलाने में सहज नहीं हो पा रहे हैं। कुछ कांग्रेस तो कुछ सहयोगी दलों के प्रदेश के नेताओं के बीच में खींचतान चल रही है। माना जा रहा है कि अगर इसी तरह से खींचतान होती रही तो प्रदेश की सियासत में आने वाले दिनों में कुछ भूचाल भी मच सकता है।

error: Content is protected !!