Breaking News
.

दिल्ली दरबार : पंजाब में नहीं संभल रहा कांग्रेस का आंतरिक कलह, दिल्ली में भी चुप्पी…

नई दिल्ली (पंकज यादव)। पंजाब में कांग्रेस का आंतरिक मामला उलझता जा रहा है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के बीच टकरार बढ़ रहा है। दिल्ली दरबार में भी पंजाब कांग्रेस का झगड़ा सुलझ नहीं पाया है। ऐसे में कयास लगाया जा रहा है कि अगर सिद्दू का कद बढ़ा तो कैप्टन कांग्रेस से किनारा कर सकते हैं। 

सूत्रों के मुताबिक कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से कह दिया है कि इस तरह के अपमान के साथ कांग्रेस में बने रहना संभव नहीं है। अब कैप्टन को तय करना है कि उनके आगे की राह क्या होगी। दूसरी ओर कांग्रेस के शीर्ष नेताओं को भी समझ में नहीं आ रहा है कि वह पंजाब के झगड़े को कैसे सुलझाएं। अगर कैप्टन कांग्रेस से नाता तोड़ते हैं तो कांग्रेस को तो झटका लगेगा ही पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव पर भी असर पड़ेगा।

दूसरी ओर भाजपा भी टकटकी लगाए हुए है कि कैप्टन का आगे का रूख क्या होगा। भाजपा के एक शीर्ष नेता के मुताबिक कैप्टन अगर कांग्रेस का साथ छोड़ते हैं तो भाजपा को फायदा होता दिख रहा है। क्योंकि कैप्टन राजनीति से कोई संन्यास लेने का मन नहीं बना रहे हैं बल्कि उनके साथ जो अपमान हो रहा है उसका बदला लेने की जरूर ठानेंगे। दिल्ली दरबार में इस बात की भी चर्चा है कि कैप्टन चाहे तो अलग पार्टी बनाकर भाजपा के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ सकते हैं नहीं तो भाजपा में भी उनका स्वागत है।

error: Content is protected !!