Breaking News
.

सांसद अतुल राय पर रेप का आरोप लगाने व सुप्रीम कोर्ट के सामने आत्मदाह करने वाली युवती व गवाह की मौत, वाराणसी पुलिस पर संगीन आरोप ….

नई दिल्ली। यूपी के घोसी (मऊ) के सांसद अतुल राय पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता की मंगलवार की सुबह दिल्ली में मौत हो गई। पुलिस और प्रशासन पर प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए रेप पीडिता ने अपने एक साथी के साथ 16 अगस्त की सुबह सुप्रीम कोर्ट के सामने आग लगा ली थी। शनिवार को उसके साथी ने दम तोड़ दिया था। डॉक्टरों के अनुसार पीड़िता को बचाने की बहुत कोशिश हुई लेकिन सेप्टीसीमिया होने के कारण उसकी हालत बिगड़ती चली गई थी। मंगलवार की सुबह साढ़े दस बजे के आसपास उसकी मौत हो गई।

बलिया की रहने वाली पीड़िता ने दो साल पहले लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान वाराणसी के लंका थाने में अतुल राय के खिलाफ रेप का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई थी। पुलिस ने अतुल राय पर शिकंजा कसा को पहले भूमिगत हो गए। चुनाव में जीत हासिल करते ही सरेंडर कर दिया था। इसके बाद से नैनी जेल में हैं।

सांसद अतुल राय ने भी पीड़िता पर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया और पीड़िता के साथ ही रेप मामले में गवाह गाजीपुर के सत्यम राय के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया। दोनों की गिरफ्तारी के लिए इसी महीने 2 अगस्त को वारंट भी जारी हो गया। इससे आक्रोशित पीड़िता ने सत्यम राय के साथ फेसबुक लाइव कर बनारस के तत्कालीन एसएसपी अमित पाठक समेत कई अधिकारियों पर संगीन आरोप लगाए। मौत को गले गलाने का बात भी कही लेकिन पुलिस ने ध्यान नहीं दिया। इस बीच 16 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट के सामने पहुंचे और फेसबुक लाइव करते हुए पेट्रोल छीड़ककर आग लगा ली। गंभीर हालत में दोनों को राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां शनिवार को सत्यम ने दम तोड़ दिया। मंगलवार की सुबह पीड़िता की भी जान चली गई।

सुप्रीम कोर्ट के सामने आत्मदाह की घटना के बाद हरकत में आई यूपी सरकार ने वाराणसी के तत्कालीन एसएसपी अमित पाठक को उसी दिन गाज़ियाबाद डीआईजी के पद से हटा दिया। वाराणसी कैंट के एसओ और मामले की विवेचना कर रहे दरोगा को भी निलंबित कर दिया गया। रेप के मामले की जांच के लिए एसआईटी भी बना दी गई है। इसमें डीजी और एडीजी स्तर के अधिकारियों को रखा गया है। दो हफ्ते में इनकी जांच रिपोर्ट आनी है।

पीड़िता और उसका साथी कई बार फेसबुक लाइव कर सांसद अतुल राय, उनके समर्थकों पर सोशल मीडिया व अन्य माध्यम से लगातार धमकी देने का आरोप लगाते रहे। बीते साल नवंबर और दिसंबर में दोनों ने कई बार वीडियो जारी कर खुद को मानसिक रूप से प्रताड़ित किये जाने का आरोप लगाया था और जान देने की धमकी दी थी। यहां तक लिखा कि वाराणसी पुलिस ने उनके फोन को ब्लाक कर दिया है और उनकी सुनवाई नहीं हो रही है। रेप आरोप अतुल राय से मिलकर पुलिस वाले उसका उत्पीड़न कर रहे हैं।

error: Content is protected !!