Breaking News
.

बिलासपुर में ठंड से मौत: रातभर फुटपाथ पर कांप रहा था बुजुर्ग; नहीं मिली गर्म कपड़ों की मदद, गई जान …

बिलासपुर। बिलासपुर में ठंड का कहर शुरू हो गया है। रविवार की रात रतनपुर बाइपास रोड में एक बुजुर्ग ठंड से कांप रहा था, आसपास से गुजर रहे धन्ना सेठों ने गाड़ियों के अंर से उसे जरूर ठंड से कंपकपाते देखा होगा, लेकिन किसी ने भी उसे गर्म कपड़ों की मदद नहीं पहुंचाई। आसपास सोए दूसरे गरीब लोगों ने उसे अस्पताल पहुंचाया। उसकी गंभीर हालत को देखकर सिम्स रेफर किया गया, लेकिन बुजुर्ग ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। इस प्रकार छत्तीसगढ़ से पहली मौत हो गई है। डॉक्टरों ने भी ठंड से उसकी मौत होने की आशंका जताई है और शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है।

शहर के साथ ही ग्रामीण इलाकों में ठंडी हवाओं से शीतलहर शुरू हो गई है। पिछले दो दिन से ठंड का पारा सामान्य से नीचे गिर गया है। मौसम विभाग ने भी तापमान में गिरावट के साथ शीतलहर की संभावना जताई है। शनिवार और रविवार को सर्द हवाओं से जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा।

इधर, रविवार की रात रतनपुर बाइपास रोड में करीब 70 वर्षीय बुजुर्ग ठंड से कांप रहा था। उसे खुले आसमान के नीचे देखकर राहगीरों ने इलाज के लिए रतनपुर स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। जहां, उसकी गंभीर हालत को देखते हुए सिम्स अस्पताल रेफर कर दिया गया, लेकिन सिम्स पहुंचने से पहले ही उसने दम तोड़ दिया। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारण का पता चल सकेगा।

सिम्स ने इस घटना की जानकारी पुलिस सिम्स चौकी को दी थी। पुलिस ने रतनपुर थाने से संपर्क कर बुजुर्ग की जानकारी जुटाई, लेकिन बुजुर्ग की पहचान नहीं हो पाई है। इसके चलते सिम्स चौकी पुलिस ने शव को मोर्चुरी में रखवा दिया है। मंगलवार को उसका पोस्टमॉर्टम कराया जाएगा। डॉक्टरों का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का स्पष्ट कारण पता चल सकेगा।

प्रदेश में उत्तर भारत से आ रही बर्फीली हवा के कारण उत्तरी और मध्य छत्तीसगढ़ को पूरी तरह चपेट में लिया है और शीतलहर चल रही है। इसी के चलते बिलासपुर के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। इस समय सरगुजा संभाग में कड़ाके की सर्दी है। कोरिया जिले में न्यूनतम तापमान 3.3 डिग्री पर पहुंच गया। अंबिकापुर से जशपुर और पेंड्रा तक तापमान 4 से 5 डिग्री के बीच पहुंच गया है।

error: Content is protected !!