Breaking News
.

राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव व राज्योत्सव में 30 अक्टूबर को माली, उजबेकिस्तान, स्वाजीलैण्ड, श्रीलंका व युगांडा सहित विविध राज्यों के नृत्यों की होगी प्रस्तुति ….

रायपुर। राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव एवं राज्योत्सव 2021 के तीसरे दिन 30 अक्टूबर 2021 को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कलाकारों द्वारा विभिन्न विधाओं पर आकर्षक तथा मनोहारी नृत्य की प्रस्तुति से बहुरंगी छटा बिखेरेंगे। इस अवसर पर माली, उजबेकिस्तान, स्वाजीलैण्ड, श्रीलंका तथा युगांडा सहित देश के विभिन्न राज्यों द्वारा नृत्यों की आकर्षक प्रस्तुति दी जाएगी।

रायपुर के साईंस कॉलेज मैदान में आयोजित राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में 30 अक्टूबर को प्रातः 8 बजे से 9 बजे तक कलाकारों द्वारा पूर्वाभ्यास के लिए समय निर्धारित है। इसके पश्चात् सुबह 9 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक निकोबारी नृत्य -अण्डमान-निकोबार, स्वांग-राजस्थान, वासवा-गुजरात, छाऊ-झारखण्ड, संथाली-पश्चिम बंगाल, खरिंग खरग फेचक-मणिपुर, घा हानू-लद्दाख, माकू हे निची-नागालैण्ड, गारसिया -राजस्थान, उरांव-कर्मा-छत्तीसगढ़, हारूल/झैंता/ हरिण नृत्य -उत्तराखण्ड  की प्रस्तुति होगी।

इसी तरह दोपहर 2.30 बजे से शाम 7.30 बजे तक प्रदर्शनकारी प्रस्तुतियां के तहत माली, उजबेकिस्तान, स्वाजीलैण्ड तथा श्रीलंका के कलाकारों द्वारा प्रस्तुति दी जाएगी। समारोह में अतिथियों के समक्ष रात्रि 8 बजे से युगांडा और दो प्रथम स्थान प्राप्त विजेताओं की प्रस्तुति होगी।

error: Content is protected !!