Breaking News
.

अग्निपथ पर बढ़ रहा देश : विक्रमशिला एक्सप्रेस ट्रेन पूरी तरह जलकर स्वाहा, उपद्रवियों ने 23 बोगियों को किया आग के हवाले …

पटना। अग्निपथ योजना ने ट्रेन को पूरी तरह से बर्बाद कर दिया है। बिहार में विरोध प्रदर्शन के बीच उपद्रवियों ने विक्रमशिला ट्रेन को आग लगा दी। उपद्रवी माचिस लेकर स्टेशन पर पहुंचे थे। स्टेशन के ही प्लेटफॉर्म संख्या दो के नजदीक की दुकान से कुछ छात्रों ने माचिस खरीदी और पहले एसी थर्ड टियर के शीट और उसमें रखे चादर-तकिया को आग के हवाले कर पूरी ट्रेन को स्वाहा कर दिया। एसी बोगी होने के कारण आग तेजी से पकड़ गया और एक-एक कर विक्रमशिला की 23 बोगियां धधक उठी। जिन बोगियों में आग सही से नहीं पकड़ पाए, उसे उपद्रवियों ने पुन: प्रयास कर आग के हवाले कर  स्वाहा कर दिया। आग की लपटें और रह-रहकर ब्लास्ट हो रहे एसी के सिलिंडर को लेकर भी वहां मौजूद यात्री दहशत में दिखे। हालांकि ट्रेन में तेजी से उठ रही आग की लपटों को देख यात्रियों ने सवारी वाहन से ही अपने गंतव्य की ओर रवाना होना उचित समझा।

करीब 8.30 बजे छात्रों ने एसी थर्ड टियर की बोगी को अपना निशाना बनाया और माचिश की तीली से बोगी की सीट व बोगी में रखे कंबल व तकिया में आगजनी की। सभी बोगी के दरवाजे एक-दूसरे से संपर्क में होने के कारण एक-एक कर 15 बोगियों में आग लग गई। वहीं आखिरी के दो बोगी में छात्रों व स्थानीय कुछ असामाजिक तत्वों ने लूटपाट के बाद आगजनी कर दी। इस बीच यात्रियों के बीच अफरातफरी मच गई। कुछ यात्रियों के भी घायल होने की सूचना है। वीडियो बना रहे दो दर्जन से अधिक यात्रियों के मोबाइल तोड़े गए हैं, तो वहीं कई यात्रियों की जमकर पिटाई भी कर दी गई।

स्टेशन पर नौ की संख्या में फूड स्टॉल, कुर्सियां, फुट ओवर ब्रिज, यात्री शेड, प्याऊ आदि को क्षतिग्रस्त कर बर्बाद कर दिया गया। शहर व ग्रामीण इलाकों के विभिन्न हिस्सों से पहुंचे छात्रों ने सबसे पहले लखीसराय स्टेशन पर खड़ी विक्रमशिला एक्सप्रेस को अपना निशाना बनाया। विक्रमशिला के लोको पायलट सुशील कुमार छात्रों के हमले में घायल हो गए। उनका सर फट गया। चालक के इंजन से बाहर निकलते ही छात्रों ने ट्रेनों में तोड़फोड़ शुरू कर दी। इस बीच स्टेशन पर भी जमकर तोड़फोड़ की।

गौरतलब है कि विक्रमशिला एक्सप्रेस की तीन रैक चलती है। एक रैक जला दी गई। इसलिए इसके परिचालन पर असर पड़ेगा। भागलपुर के रेलकर्मियों के अनुसार सप्ताह में दो दिन ट्रेन रद्द हो सकती है। चूंकि ये एलएचबी रैक है और इतनी संख्या में एलएचबी बोगी स्पेयर में नहीं है। मालदा रेल मंडल के सीनियर डीएमई एसके तिवारी के मुताबिक कई ट्रेनों की रैक जली है। परिचालन को लेकर विमर्श किया जा रहा है। एक दो दिन रद्द हो सकती है। रैक आने के बाद जांच होगी। देखा जायेगा कि कितने कोच बदलने की जरूरत है। अभी अगले दिन यानी शनिवार के लिए विक्रमशिला की एक रैक भागलपुर में उपलब्ध है।

जबतक पुलिस-प्रशासन ने यहां छात्रों को समझा बुझाकर रवाना किया, तबतक आउटर पर खड़ी जनसेवा को भी छात्रों ने शिकार बनाते हुए उसे भी आग के हवाले कर दिया। यहां पटरियों के क्लिप भी खोल दिए गए। इस रेलवे के वरीय अधिकारी या वरीय पुलिस पदाधिकारी नहीं दिखे। जिला प्रशासन की तरफ से डीएम संजय कुमार सिंह और एसपी पंकज कुमार ने कमान संभाली और उग्र छात्रों  से वार्ता कर छात्रों से अनुरोध कर स्टेशन से वापस भेजा गया। हालांकि बाद में बड़ी संख्या में पुलिस बलों व प्रशासनिक पदाधिकारियों के लखीसराय स्टेशन से लेकर आउटर तक तैनाती किए जाने के बाद छात्र लौट गए।

सुबह सात बजे ही सैकड़ों की संख्या में लखीसराय स्टेशन पहुंचे छात्र ने न सिर्फ स्टेशन पर तोड़फोड़ की, बल्कि स्टेशन पर खड़ी विक्रमशिला एक्सप्रेस को आग के हवाले कर दिया।  छात्रों का विरोध करीब पांच घंटे तक चला और रेलवे की परिसंपत्तियों को जमकर नुकसान पहुंचाया गया। विक्रमशिला की 23, जनसेवा की इंजन सहित सात बोगियों को आग के हवाले कर दिया गया। पटरियों के क्लिप खोल दिए गए, वहीं लखीसराय स्टेशन पर भी जमकर उत्पात मचाया गया।

error: Content is protected !!