Breaking News
.

वैक्सीन को चकमा दे सकता है कोरोना का नया वायरस, हो सकता है और अधिक संक्रामक, अब इस रूप में मिला …

नई दिल्ली । एक अध्यन में कोरोना वैक्सीन को चकमा देने का खुलासा होने के बाद दुनियाभर के वैज्ञानिकों के पैरों तले की जमीन खिसक गई है। वे अब तक वैक्सीन बनाने के बाद छाती चौड़ी कर घूम रहे थे। कोरोना वायरस के मिले नए स्वरूप ने न केवल चौड़ी को पिचका दिया है बल्कि रातों की नींद भी उड़ा दी है। दक्षिण अफ्रीका और कई अन्य देशों में कोराना वायरस का एक नया स्वरूप मिला है जो अधिक संक्रामक हो सकता है तथा कोविड रोधी टीके से मिलने वाली सुरक्षा को चकमा दे सकता है। इससे वैक्सीन की सुरक्षा की बात अब बेमानी हो गई है। जो लोग दो टीके या कॉकटेल लगवा चुके हैं उन्हें भी यह आसानी से मात दे देगा।

दक्षिण अफ्रीका स्थित नेशनल इंस्टिट्यूट फॉर कम्युनिकेबल डिजीज एवं क्वाजुलु नैटल रिसर्च इनोवेशन एंड सीक्वेंसिंग प्लैटफॉर्म के वैज्ञानिकों ने कहा कि कोरोना वायरस के नए स्वरूप सी.1.2 का, सबसे पहले देश में इस साल मई में पता चला था। उन्होंने कहा कि तब से लेकर गत 13 अगस्त तक यह स्वरूप चीन, कांगो, मॉरीशस, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, पुर्तगाल और स्विट्जरलैंड में मिल चुका है।

वैज्ञानिकों ने कहा है कि दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 की पहली लहर के दौरान सामने आए वायरस के उपस्वरूपों में से एक सी.1 की तुलना में सी.1.2 अधिक उत्परिवर्तित हुआ है जिसे ‘रुचि के स्वरूप की श्रेणी में रखा गया है। उन्होंने कहा कि सी.1.2 में अन्य स्वरूपों-‘चिंता के स्वरूपों या रुचि के स्वरूपों की तुलना में अधिक उत्परिवर्तन देखने को मिला है। वैज्ञानिकों ने कहा कि सी.1.2 अधिक संक्रामक हो सकता है तथा यह कोविड रोधी टीके से मिलने वाली सुरक्षा को चकमा दे सकता है।

error: Content is protected !!