Breaking News
.

कोरोना वायरस बहरूपिया है, वह अपना स्वरूप बदलता है, वैक्सीनेशन के लिए प्रदेश में ‘घर-घर ढूंढो  अभियान चलाएगी सरकार: सीएम

विशेष संवाददाता/भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना से लड़ने के लिए सभी नागरिकों का टीकाकरण जरूरी है। कोरोना वायरस बहरूपिया है और वह अपना स्वरूप बदलता है। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन के लिए ‘घर-घर ढूंढो’ अभियान चलाया जाएगा। जिन व्यक्तियों ने वैक्सीनेशन नहीं करवाया है] उन्हें खोजने, वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करने और उनका वैक्सीनेशन कराने की जिम्मेदारी हम सभी की है। वैक्सीनेशन जिंदगी का डोज है। यह कोरोना संक्रमण से बचने का कवच है। अत: हम सब वैक्सीनेशन करवाएं और अपने-अपने क्षेत्र के लोगों को भी वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करें। यह गतिविधि प्रदेश के प्रत्येक ग्राम और वार्ड में सुनिश्चित की जाए। सभी जन-प्रतिनिधि, क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी के सदस्य, प्रशासन का अमला, स्वयंसेवी संस्थाएं, धार्मिक, सामाजिक, राजनैतिक, शासकीय-अशासकीय संगठन और जागरूक नागरिक अपनी इस जिम्मेदारी को पूरी गंभीरता से निभाएं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जवाहर चौक, भोपाल स्थित जैन मंदिर पहुंचकर प्रदेश व्यापी टीकाकरण महाअभियान-2 का शुभारंभ किया। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री प्रभुराम चौधरी, भोपाल जिले के प्रभारी नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह, पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान को मंत्री श्री सांरग ने ‘आई एम फुल्ली वैक्सीनेटेड’ का बैच लगाया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कार्यक्रम में सभी को टीकाकरण महाअभियान को सफल बनाने का संकल्प दिलाया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना बहुरूपिया बीमारी है, यह कब बढ़ जाए यह निश्चित नहीं है। अत: लगातार सतर्कता जरूरी है। अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देशों में केस बढ़ रहे हैं। देश में केरल की भी यही स्थिति है। हम पुन: कोरोना के कष्ट को झेल नहीं सकते हैं। अत: बचाव आवश्यक है। वैज्ञानिक और डॉक्टरों का मत यही है कि टीकाकरण और कोरोना अनुकूल व्यवहार से ही कोरोना से बचाव संभव है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना पर नियंत्रण होने के कारण धीरे-धीर लोग निश्चिंत होने लगे हैं, जो उचित नहीं है। कोरोना से बचाव के लिए हमें हमारा कर्त्तव्य करना है। पहला डोज लगवाने के बाद दूसरा डोज नहीं लगवाया तो डोज बेकार हो जाएगा। अत: लोगों में जागरूकता के लिए ही टीकाकरण महाअभियान का दूसरा चरण आरंभ किया गया है। हमारा लक्ष्य है कि सितंबर 21 तक प्रदेश के सभी पात्र व्यक्तियों को वैक्सीन का पहला डोज लग जाए और दिसंबर 21 तक सभी पात्र लोगों को वैक्सीन का दूसरा डोज भी लगे। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार मानते हुए कहा कि भारत सरकार द्वारा स्वीकृत की गई 11 लाख डोज के आधार पर ही प्रदेश में दूसरा महाअभियान संचालित किया जा रहा है। प्रदेश में अब डोज की कमी नहीं है, पर जागरूकता की कमी है, जिसे हमें दूर करना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मुख्यमंत्री कोविड-19 अनुकंपा नियुक्ति योजना के अंतर्गत मोहित तिवारी और श्रीमती पूनम मेहर को अनुकंपा नियुक्ति-पत्र प्रदान किए।

error: Content is protected !!