Breaking News
.

मप्र में उपचुनाव से पहले कांग्रेस को लगा झटका : भाजपा में शामिल हुईं कांग्रेस की पूर्व विधायक और पूर्व राज्यमंत्री सुलोचना रावत…

भोपाल। मध्य प्रदेश में होने वाले उपचुनाव से ठीक पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस की पूर्व विधायक और जोबट सीट से टिकट की दावेदार मानी जा रही सुलोचना रावत बीजेपी में शामिल हो गईं। उनके साथ बेटे विशाल रावत ने भी बीजेपी का हाथ थाम लिया. प्रदेश की प्रमुख आदिवासी नेता हैं सुलोचना रावत।

 

शनिवार देर रात हुए इस नाटकीय घटनाक्रम में दोनों को बीजेपी के दिग्गज नेताओं ने पार्टी में शामिल कराया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा, प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव की मौजूदगी में सीएम हाउस में दोनों नेता बीजेपी में शामिल हुए। कयास लगाए जा रहे हैं कि सुलोचना रावत को बीजेपी जोबट सीट से अपना उम्मीदवार बना सकती है।

कांग्रेस को थी भनक

पूर्व राज्यमंत्री सुलोचना रावत बीजेपी नेताओं के संपर्क में हैं, इस बात की भनक कांग्रेस आलाकमान को भी लग चुकी थी। यही वजह है कि उनके बीजेपी में शामिल होने से पहले ही कांग्रेस में भी एक महत्वपूर्ण बैठक हुई। यह बैठक रवि जोशी के घर हुई। इसमें पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा और विजयलक्ष्मी साधो के अलावा कांग्रेस कोषाध्यक्ष अशोक सिंह भी शामिल हुए। हालांकि, यह नेता सुलोचना रावत के शामिल होने की खबरों को दरकिनार करते रहे।

पृथ्वीपुर विधानसभा सीट से कांग्रेस ने नितेंद्र सिंह को दिया टिकट

कांग्रेस ने शनिवार को पृथ्वीपुर विधानसभा सीट में होने वाले उपचुनाव के लिए उम्मीदवार के नाम का ऐलान कर दिया। पार्टी ने पूर्व मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर के बेटे नितेंद्र सिंह राठौर को प्रत्याशी बनाया है। सोनिया गांधी ने नितेंद्र सिंह राठौर के नाम पर सहमति जताई है। नितेन्द्र सिंह के पिता ब्रजेन्द्र सिंह 5 बार इसी क्षेत्र से विधायक चुने गए थे और कांग्रेस की सरकार में मंत्री बने थे। पिता के निधन के बाद अब कांग्रेस सहानुभूति पर सवार होकर नितेन्द्र सिंह के जरिए चुनाव जीतने की तैयारी में है। नितेन्द्र सिंह बीते कुछ दिनों से क्षेत्र में लगातार चुनाव प्रचार में भी जुटे थे। अब बीजेपी की ओर से उनके सामने चुनाव मैदान में कौन होगा इसका इंतजार है।

 

खंडवा लोकसभा सीट: मोघे समर्थकों ने कहा हर्ष अभी बच्चा, पार्टी पैनल बनाकर दिल्ली भेजेगी

प्रदेश में 3 विधानसभा और एक लोक सभा उप चुनाव के लिए प्रत्याशी चयन को लेकर भाजपा में अभी से विरोध के स्वर उठने लगे हैं। खंडवा बुरहानपुर लोकसभा सीट से दावेदार कृष्ण मुरारी मोघे के समर्थकों ने प्रदेश भाजपा कार्यालय पर शक्ति प्रदर्शन किया और पत्रकारों से कहा कि दावेदार हर्ष सिंह चौहान अभी बच्चे हैं। पार्टी में शनिवार को बैठकों का दौर चलता रहा पार्टी सभी जगह 3-3 नाम का पैनल तैयार करते दिल्ली भेजेगी।

 

पूर्व सांसद और पार्टी के संगठन महामंत्री रहे कृष्ण मुरारी मोघे समर्थकों ने शनिवार को पार्टी कार्यालय पहुंचकर अपनी ताकत बताने की कोशिश की। उन्होंने पार्टी प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत से मुलाकात कर अपना पक्ष रखा। बाद में खंडवा बुरहानपुर से आए इन लोगों ने कहा कि दावेदार हर्ष सिंह चौहान अभी बच्चे हैं। उन्होंने पार्टी में परिवारवाद का भी विरोध किया।

 

शनिवार शाम को मुख्यमंत्री निवास में पार्टी के कोर ग्रुप की बैठक हुई इसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, राष्ट्रीय संगठन मंत्री शिव प्रकाश, प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव, प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा, संगठन महामंत्री सुहास भगत और सह संगठन मंत्री हितानंद शर्मा ने के नामों पर विचार विमर्श किया। इस दौरान चुनाव समिति के सदस्यों वर्चुअल जोड़ा गया और उनका पक्ष जाना गया। इस बैठक में तय किया गया है कि प्रदेश से तीन नामों का पैनल राष्ट्रीय संगठन को भेजा जाए। पार्टी उपचुनाव को 2023 का सेमी फाइनल मान रही है। ऐसे में प्रत्याशी चयन को लेकर ज्यादा मंथन हो रहा है। स्थानीय और जातिगत समीकरण के अलावा प्रत्याशी की छबि, पार्टी का विचार और चयन के बाद जाने वाले संदेश को ध्यान में रखा जा रहा है।

error: Content is protected !!