Breaking News
.

आगामी उपचुनावों को लेकर कांग्रेस ने बनाया प्लॉन, उन्हीं मुद्दों पर बीजेपी को घेरेगी, जिनके सहारे उसने सरकार बनाई थी…

भोपाल। मध्य प्रदेश में भले अभी 4 सीटों के उपचुनाव की तारीखों का ऐलान न हुआ हो, लेकिन चुनावी मुद्दों की गर्माहट अभी से महसूस होने लगी है। इन उपचुनावों में भाजपा को पटखनी देने के लिए कांग्रेस ने प्लॉन तैयार कर लिया है। इसके तहत 2003 के विधानसभा चुनाव में जिन मुद्दों के सहारे बीजेपी कांग्रेस को घेरकर सत्ता तक पहुंची थी, अब उन्हीं मुद्दों के सहारे कांग्रेस ने बीजेपी की घेराबंदी शुरू कर दी है।

प्रदेश में हुई बारिश के बाद खस्ताहाल सड़कें एक बार फिर मुद्दा बन गई हैं। इनके अलावा ग्वालियर चंबल में बाढ़ और बारिश से पुल, पुलियों के बह जाने, बिजली के भारी भरकम बिल और बढ़ती महंगाई को कांग्रेस ने जोर-शोर से उठाना शुरू कर दिया है। इन तमाम मुद्दों को लेकर कांग्रेस के बड़े नेताओं से लेकर पार्टी से जुड़े संगठन भी सड़कों पर हल्ला-बोल कर रहे हैं। पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि प्रदेश में 2003 से ज्यादा हालात खराब हैं, लोग महंगाई से परेशान हैं, बिजली के भारी-भरकम बिल और सड़कों में हुए गड्ढों ने सरकार के सुशासन की पोल खोल दी है।

इधर, विपक्ष के तेवरों के बाद बीजेपी ने भी जवाबी हमलों की तैयारी तेज कर दी है। बीजेपी ने लोगों से जुड़ने के लिए पूरे एक साल के कार्यक्रमों की तैयारी शुरू कर दी है। कांग्रेस के 2003 से पहले के शासन में बिजली और सड़क के हालातों और अब के हालातों के तुलनात्मक आंकड़े भी पेश किए जा रहे हैं। प्रदेश के मंत्री भूपेंद्र सिंह का कहना है कि खराब सड़कों को तत्काल सुधारा जा रहा है। बिजली के क्षेत्र में रिकॉर्ड उत्पादन हो रहा है। पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि कांग्रेस 18 साल में बूढ़ी हो गई है और अब उसे मुद्दे नहीं मिल रहे हैं। कांग्रेस सरकार की तुलना में आज प्रदेश के स्टेट हाईवे नेशनल हाईवे और एमडीआर रोड बेहतर हालत में हैं। परफॉर्मेंस गारंटी वाली सड़कों के खराब होने पर उनके सुधारने का प्रावधान है।

2003 के चुनाव में बीजेपी ने खराब सड़कों, बिजली की कमी और पानी जैसे मुद्दों को उठाकर तत्कालीन दिग्विजय सिंह सरकार को सत्ता से बेदखल कर दिया था। प्रदेश में अब 2023 में चुनाव होना है। ऐसे में विपक्ष ने उन्हीं बुनियादी मुद्दों को लेकर सरकार की घेराबंदी शुरू कर दी है। 2003 के चुनाव में कांग्रेस के खिलाफ बीजेपी के मुद्दों ने प्रदेश में भगवा जीत दिलाई थी। अब वही मुद्दे बीजेपी सरकार के खिलाफ कांग्रेस के लिए कितने असरदार साबित होते हैं यह देखना दिलचस्प होगा।

error: Content is protected !!