Breaking News
.

कांग्रेस सरकार उठाएगी नेत्रहीन बहनें चंदा और रिया के इलाज का पूरा खर्च, सीएम बघेल ने कहा- देश में कहीं भी हो कराएंगे इलाज ….

अंबिकापुर। छत्तीसगढ़ के 90 विधानसभा क्षेत्रों के दौरे पर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल निकले हैं। दो दिनों में दो अफसरों पर निलंबन की गाज गिरी। वहीं जमीनी स्तर पर तैनात अफसरों की लापरवाही पर सीएम सख्त नजर आए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को हिदायत देनी पड़ी कि अधिकारी-कर्मचारी अपने क्षेत्रों मे मुस्तैद रहें। उनकी एक लापरवाही गरीब परिवार पर भारी पड़ती है। अधिकारियों की कार्यकुशलता, व्यवहार एवं लोगों से संपर्क से ही सरकार की छवि बनती है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आरागाही गांव की नेत्रहीन बालिकाओं चंदा और रिया के इलाज का बीड़ा उठाया है।

सीएम के निर्देश के बाद अभी तक CMO और EE पर निलंबन की गाज गिर चुकी है। दौरे के दौरन सीएम एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं तो वहीं उनकी सहानुभूति व फैसले ने लोगों का दिल भी जीत लिया है। कई समस्याओं का त्वरित निदान भी कर रहे हैं। बुजुर्ग महिला को राशन कार्ड बनाकर दिया तो वह सीएम भूपेश बघेल को आशीर्वाद देने लगी। सीएम ने 10वीं-12वीं के टॉपर बच्चों को हेलीकाप्टर राइड कराने की बात कही है, जिससे बच्चों में उत्साह बढ़ेगा। वहीं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नेत्रहीन बालिकाओं चंदा और रिया के इलाज का बीड़ा उठाया है।

सीएम भूपेश बघेल ने रामानुजगंज में प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि दोनों बच्चियों का इलाज देश के जिस अस्पताल में भी होगा, राज्य शासन उनका पूरा खर्चा वहन करेगी। दिल्ली या चेन्नई जहां जरूरत होगी भेजेंगे। अस्पताल के स्टॉफ के साथ बच्चियों और मां को भेजा जायेगा। गुरुवार को आरागाही गांव के भेंट मुलाकात कार्यक्रम में अपनी मां अनति देवी के संग दो नेत्रहीन बेटियां आई थी। मुख्यमंत्री ने कल भेंट मुलाकात में रो रही अनति देवी से कहा था कि आप चिंता ना करें, बच्चों के इलाज के लिए हरसंभव मदद की जाएगी। सीएम के इस पहल की जमकर सराहना हो रही है।

error: Content is protected !!