Breaking News
.

छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार अनेक जनकल्याणकारी योजनाएं कर रही है संचालित: चिन्तामणी महाराज

बलरामपुर । शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ आमलोगों तक पहुंचाने एवं लोगों की समस्याओं का समाधान करने के उद्देश्य से विकासखण्ड कुसमी के ग्राम पंचायत सामरी में आयोजित शिविर में 545 आवेदन प्राप्त हुए तथा निराकरण योग्य आवेदनों का निराकरण कर शेष आवेदनों को संबंधित विभाग के अधिकारियों को समय-सीमा में निराकरण करने के निर्देश दिये गये। शिविर में समस्त विभागों में संचालित योजनाओं की जानकारी विभिन्न विभाग प्रमुखों द्वारा दी गई और ग्रामीणों से शासन द्वारा संचालित योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ लेने की अपील की गई।

छत्तीसगढ़ शासन के संसदीय सचिव व सामरी विधायक चिन्तामणि महाराज ने आमजनता को संबोधित करते हुए कहा कि शासन अनेक जनकल्याणकारी योजनाएं संचालित कर रही है, इन योजनाओं को आमलोगों तक पहुँचाने के लिए समाधान शिविर का आयोजन किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ सरकार की मंशा है कि आमजनों को किसी भी प्रकार की समस्या न हो इसके लिए जिला प्रशासन जिला एवं विकासखण्ड स्तर पर समाधान शिविर का आयोजन कर रही है। उन्होंने कहा कि समाधान शिविरों में अधिकांश मामले राजस्व विभाग से जुड़े होते हैं जिनका निराकरण किया जाएगा इस पर परेशान होने की जरूरत नहीं है। संसदीय सचिव चिन्तामणि महाराज ने कहा कि क्षेत्र में ऐसे मजरा-टोला है जहाँ आने-जाने के लिए सड़क की व्यवस्था नहीं है वहाँ सड़क निर्माण का कार्य किया जायेगा। महाराज ने कहा कि हमारे क्षेत्र में पर्याप्त मात्रा में पानी की व्यवस्था है, अगर किसान भाई कृषि विभाग के सहयोग से खेती-बाड़ी करें तो वे पूरी तरह से आत्म निर्भर हो सकेंगे।

कलेक्टर कुन्दन कुमार ने कहा कि समारी जिले का सबसे दूरस्थ क्षेत्र है, यहां के लोगों को अपने समस्याओं के निराकरण के लिए जिला स्तर पर जाना न पड़े इसके लिए समाधान शिविर आयोजित कर क्षेत्र के ग्रामीणों की मांग व समस्यओं का निराकरण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राजस्व विभाग से संबंधित शिकायत अधिक है, कलेक्टर कुमार ने कहा कि ग्रामीणों द्वारा प्राप्त राजस्व संबंधी शिकायतों का 07 दिवस के भीतर निराकरण करें। कलेक्टर ने राजस्व अधिकारियों से ग्रामीणों को अनावश्यक परेशान न करते हुए उनके कार्यों का शीघ्र निराकरण करने को कहा। उन्होंने कहा शिविर में पहुंच मार्ग से संबंधित मांग अधिक आये हैं, सभी मांगों को प्राथमिकता के साथ पूरा करने का प्रयास किया जायेगा, उन्होंने ग्रामीणों से शासन की योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ लेने का आग्रह किया। कलेक्टर कुमार ने शिविर में आये ग्रामीणों से अपने बच्चों के शिक्षा पर विशेष ध्यान देने को कहा।

पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू ने कहा कि आप सभी को अपनी मांग व शिकायत के निराकरण के लिए जिला मुख्यालय आने-जाने में बहुत ही परेशानी होती है, किन्तु जिला प्रशासन द्वारा समाधान शिविर आयोजित कर शिविर स्थल पर ही आप लोगों की समस्याओं का निराकरण किया जा रहा है। उन्होंने ग्रामीणों से पुलिस विभाग से संबधित कोई शिकायत हो तो जानकारी देने को कहा। वनमण्डाधिकारी विवेकानन्द झा ने वन विभाग द्वारा संचालित हितग्राहीमूलक योजनाओं की शिविर में जानकारी दी। उन्होंने ग्रामीणजनों को वनों में आग न लगाने तथा वनों को बचाने की अपील की।

समाधान शिविर में विभिन्न शासकीय योजनाओं के तहत् हितग्राहीमूलक कीट का वितरण जैसे कृषि विभाग द्वारा 20 कृषकों को मक्का बीज का मिनी कीट, मछली पालन विभाग द्वारा 02 कृषक को जाल व 02 को आईस बॉक्स, शिक्षा विभाग द्वारा 12 छात्र-छात्राओं को जाति प्रमाण पत्र, स्वास्थ्य विभाग द्वारा 10 पहाड़ी कोरवा परिवार के लोगों को मच्छरदानी, 10 हितग्राहियों को हेल्थ कार्ड, 12 हितग्राहियों को आयुष्मान कार्ड, वन विभाग द्वारा 03 हितग्राहियों को वन्यजीवों से क्षतिपूर्ति की राशि, समाज कल्याण विभाग द्वारा 10 हितग्राहियों को केन स्टीक, 01 को कृत्रिम पैर व 01 को मोटराईज्ड ट्रायसायकल, 29 हितग्राहियों को दिव्यांग प्रमाण पत्र, 19 हितग्राहियों को समाजिक सहायत पेंशन स्वीकृति पत्र वितरण किया गया। शिविर स्थल पर ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा 57 दिव्यांगजनों का स्वास्थ्य परीक्षण कर 28 हितग्राहियों को दिव्यांग प्रमाण पत्र, 53 लोगों को स्वास्थ्य परीक्षण कर दवाई का वितरण, श्रम विभाग द्वारा 42 हितग्राहियों को श्रम कार्ड बनाकर वितरण किया गया।

error: Content is protected !!