Breaking News
.

उग्रवादी हमले में रायगढ़ के कर्नल विप्लव त्रिपाठी हुए शहीद, पत्नी और पुत्र की भी गई जान…

रायगढ़। मणिपुर में उग्रवादियों द्वारा किए गए हमले में रायगढ़वासी कर्नल विप्लव त्रिपाठी शहीद हो गए। हमले में उनकी पत्नी और पुत्र की भी मौत हो गई। वे 46 असम राइफल्स के कमांडिंग अफसर थे। विप्लव शहर के वरिष्ठ पत्रकार सुभाष त्रिपाठी के पुत्र थे। विप्लव की बालिदान होने की शहर से शहरवासियों में शोक की लहर है। स्वजन के अनुसार सोमवार को उनकी पार्थिव शरीर रायगढ पहुंचेगा।

विप्लव मणिपुर के चूड़ा चांदपुर जिले के सिन घाट सब डिवीजन में तैनात थे। शनिवार को यहां आतंकियों का हमला हुआ। विप्लव के बलिदान होने की खबर ने शहरवासियों को झकझोर दिया है। उनका अंतिम संस्कार गृहग्राम में किए जाने की तैयारी होने लगी है। उनका पार्थिव शरीर के सोमवार तक रायगढ पहुंचने की जानकारी स्वजन ने दी है।

संविधान निर्माण समिति के सदस्य थे दादा किशोरी मोहन

विप्लव की पारिवारिक पृष्टभूमि गौरवशाली है। उनके पिता वरिष्ठ पत्रकार सुभाष त्रिपाठी एक साप्ताहिक अखबार के संपादक है। जबकि दादा पंडित स्वर्गीय किशोरी मोहन त्रिपाठी देश के संविधान निर्माण समिति के सदस्य थे।

error: Content is protected !!