Breaking News
.

सीएम ने किया ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन करने वाली भारतीय महिला हॉकी टीम की खिलाड़ियों का सम्मान…

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन करने वाली भारतीय महिला हॉकी टीम की खिलाड़ियों को सम्मानित किया। चौहान ने ना केवल मंगलवार को हॉकी खिलाड़ियों के साथ पौधारोपण किया, बल्कि उन्हें दोपहर भोज भी दिया। उनके सम्मान समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में वर्ल्ड क्लास हॉकी स्टेडियम बनाया जाएगा।

मुख्यमंत्री चौहान ने इस अवसर पर कहा कि मध्यप्रदेश खेलों के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ेगा। प्रदेश के खिलाड़ियों को आगे बढ़ने के लिए सभी जरूरी सुविधाएं देने का सिलसिला थमने वाला नहीं है। भारत की महिला हॉकी खिलाड़ियों ने भारत का मान बढ़ाया है। इन पर हम सभी को गर्व है। यदि जज्बा मजबूत हो तो सफलता की सभी ऊँचाइयों को छुआ जा सकता है। भारत की महिला हॉकी टीम ने इस बार टोक्यो ओलिम्पिक में अपने बेहतरीन प्रदर्शन से यही सिद्ध किया है। प्रदेश में एक वर्ल्ड क्लास हॉकी स्टेडियम का निर्माण किया जाएगा। इससे खिलाड़ी और खेलप्रेमी दर्शक दोनों लाभान्वित होंगे। यही नहीं, वर्ष 2022 के खेलो इंडिया गेम्स भोपाल में आयोजित कराने को केन्द्र सरकार द्वारा सैद्धांतिक सहमति प्राप्त हो गई है। समारोह में मुख्यमंत्री ने टीम की खिलाड़ियों को 31-31 लाख रुपए की सम्मान राशि, स्मृति-चिन्ह, प्रशस्ति-पत्र, श्रीफल और अंग वस्त्र से सम्मानित किया।

 

भावुक हुई महिला हॉकी टीम, जब सीएम शिवराज बोले- मामा है न…

इस अवसर पर सीएम ने खिलाड़ियों से कहा- आपकी आंखों में आंसू देखते ही कहा था कि आप सबका भोपाल में सम्मान करूंगा. बेटियों की टीम आर्थिक संकट में है. लेकिन मामा के होते हुए अब आप सबको चिंता करने की जरूरत नहीं है. भोपाल के मिंटो हॉल में महिला हॉकी टीम के सम्मान समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा हम हॉकी नहीं छोड़ सकते. क्योंकि हॉकी हमारी जान है. भोपाल हॉकी की नर्सरी है. हमारी बेटियों की हॉकी टीम आर्थिक संकट में है. मैंने एक क्षण भी नहीं लगाया और कहा कि मामा के होते हुए भांजियों को चिंता करने की क्या जरूरत, जो जरूरत होगी हम पूरी करेंगे.

 

यदि हर राज्य में शिवराज जैसे सीएम होंगे तो और भी लड़कियां स्पोर्ट्स में आ सकती हैं

इस मौके पर भारतीय महिला हॉकी टीम की कैप्टन रानी रामपाल ने कहा सीएम शिवराज का जिस तरह से बेटियों के प्रति लगाव और प्यार है, उससे दूसरे राज्यों को सीख लेनी चाहिए कि हम किस तरह से लड़कियों को प्रोत्साहित कर सकते हैं. उनका स्पोर्ट्स और बेटियों-बहनों के प्रति जो प्यार है वो, हम बहुत साल पहले से देखते आ रहे हैं. अगर हर राज्य में इस तरह के मुख्यमंत्री होंगे तो और भी लड़कियां स्पोर्ट्स में आ सकती हैं. रानी रामपाल ने सीएम शिवराज के लिए कहा- आपने मध्यप्रदेश को स्पोर्ट्स का हब बनाया है. जिस तरह यहां हॉकी एकेडमी चलती है वो विश्व स्तरीय है. आपने देश में बहुत बड़ा एग्जांपल सेट किया है उसके लिए बहुत बहुत धन्यवाद. रानी रामपाल ने कहा कि इतने साल बाद लोगों का खूब प्यार मिला. अच्छा लगा जब लोग और देश की जनता क्रिकेट को छोड़कर हमारा मैच देख रहे थे. हमारी जीत के लिए दुआएं कर रहे थे.

 

सीएम ने खेल मंत्री से कहा- हॉकी के लिए किसी भी सुविधा में कोई कसर न रहे

सीएम शिवराज ने खेल मंत्री यशोधरा राजे से कहा- हॉकी के लिए जो करना है कीजिये. भोपाल में वर्ल्ड क्लास स्टेडियम तैयार कराइए… ग्वालियर में स्टेडियम बनाना हो आप तय कर लें. किसी भी सुविधा में कोई कसर न रहे. सीएम शिवराज सिंह ने कहा रानी टूटी हॉकी से खेलकर आज इस मुकाम तक पहुंची हैं. कुछ खिलाड़ियों ने घंटों बस और ट्रेन का कठिन सफर तय किया तो कुछ खिलाड़ियों ने मुश्किल आर्थिक हालातों के बाद भी खेल को नहीं छोड़ा. आप सबसे उम्मीद है कि आने वाले दिनों में आप इस खेल को बहुत ऊंचाइयों पर ले जाएंगी.

error: Content is protected !!