Breaking News
.

पटियाला में हिंसा के बाद सीएम भगवंत मान का पहला बयान, पंजाब में नहीं बो सकते नफरत के बीज ….

चंडीगढ़। पटियाला में शिवसेना समर्थकों और खालिस्तानियों के बीच झड़प के बाद पहली बार पंजाब के सीएम भगवंत मान का बयान सामने आया है। भगवंत मान ने शांति को भंग करने की कोशिश कर रहे समाज विरोधी तत्वों को चेतावनी देते हुये मंगलवार को कहा कि प्रदेश की उपजाऊ धरती पर कुछ भी बीजा जा सकता है, लेकिन नफरत के बीज नहीं। मुख्यमंत्री मान ने कहा कि लोगों में मजबूत आपसी भाईचारे को कमजोर करने की नापाक कोशिशों में संलिप्त किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा। ईद के मौके पर आज स्थानीय ईदगाह में नमाज अदा करने के समय शिरकत करने के बाद लोगों को संबोधित करते हुये मान ने कहा कि ईद एक ऐसा त्योहार है, जो दूसरों के दुख सुख का अहसास करवाता है।

भगवंत मान ने कहा कि यह त्योहार भाईचारा, शांति और सदभावना का प्रतीक है। जिले के चहुंमुखी विकास को यकीनी बनाने का ऐलान करते हुये उन्होंने कहा कि नये जिले में कुछ जरूरी बुनियादी विकास के लिये कोई कसर नहीं छोड़ी जायेगी । पिछली सरकार ने मलेरकोटला को सिर्फ जिले का दर्जा देकर अपनी जिम्मेदारी पूरी कर दी लेकिन सही मायने में जिला बनाने के लिये अभी बहुत कुछ करना बाकी है। जिले में शिक्षा तथा स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे के विकास को तरजीत दी जाएगी। स्थानीय विधायक मुहम्मद जमील उर्फ रहमान की मांगों को पूरा करने का भरोसा देते हुए कहा कि इस ऐतिहासिक शहर को विकास कार्य पूरे होने तक फंडों की कमी नहीं आने दी जाएगी।

प्रदेश के लोगों ने आप सरकार के 46 दिनों में नौजवानों के लिये रोजगार के मौके पैदा करने के साथ साफ सुधरा पारदर्शी प्रशासन मुहैया कराने के लिये उनकी सरकार की पहलकदमियों को देखा है। इस दौरान भ्रष्टाचार पर नकेल कसी गई है तथा सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जों से मुकत कराने के लिये मुहिम चलायी गई है। उन्होंने लोगों से अपील की कि आप सरकार को कुछ और समय दें। सरकारी लोगों से किये सभी वादे पूरे करेगी लेकिन जल्दबाजी ठीक नहीं । मंत्रिमंडल ने विभिन्न विभागों में खाली पड़े 26,454 पद भरने के लिये बड़े स्तर पर भर्ती मुहिम शुरू करने जा रही है। अब पूर्व विधायक को केवल एक ही पेंशन मिला करेगी। सरकार खाली खजाने को भरने के लिये पूरे प्रयास किये जा रहे हैं तथा लोगों की पाई पाई उनके लिये ही खर्च की जायेगी।

पिछली सरकारों की तरफ से अपने राजनीतिक विरोधियों के विरुद्ध झूठे केस दर्ज करने की रिवायत को तोड़ने का भरोसा देते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारों ने राज्य के साधनों को बेरहमी से लूटने के अलावा कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि ये लोग कई सालों से राज्य को लूटने के बाद भी संतुष्ट नहीं हैं। अब लोगों की अपनी सरकार है। लुटेरों से ब्याज समेत पैसे वापस लिए जाएंगे।

error: Content is protected !!