Breaking News
.

ओमिक्रॉन के खतरे के बीच तीसरी लहर की ओर बढ़ रहा छत्तीसगढ़, मुख्यमंत्री भूपेश बोले- लॉकडाउन सबसे अंतिम विकल्प …

रायपुर। छत्तीसगढ़ में फिलहाल ओमिक्रॉन का एक भी मामला नहीं है, इसके बाद भी सरकार अलर्ट मोड पर है। कोरोना के बढ़ते केस ने शासन की चिंता बढ़ा दी है। सीएम भूपेश बघेल ने सभी जिलों में स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट रहने कहा है। अधिकारियों को कोरोना की जांच में तेजी लाने और बचाव की गाइडलाइन का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने कहा कि प्रदेश तीसरी लहर की ओर बढ़ रहा है और सबसे अंतिम विकल्प लॉकडाउन है। बढ़ते संक्रमण ने स्कूली बच्चों के पालकों की चिंता बढ़ा दी है। इस पर सीएम ने कहा कि शिक्षा विभाग को निर्देशित किया गया कि स्थिति की समीक्षा करें। वहीं व्यापारियों, उद्योगपतियों व व्यवसायिक संगठनों से चर्चा कर ठोस निर्णय लिया जाएगा। सीएम ने बड़े आयोजनों व सभाओं पर रोक लगाने व पाबंदियां बढ़ाने की बात कही है।   

बता दें कि राजधानी रायपुर सहित प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा हर दिन बढ़ता जा रहा है। सोमवार को छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा 698 नए केस मिले हैं। प्रदेश में अब कुल सक्रिय मरीजों की संख्या 1942 जा पहुंचा है। सोमवार को कुल 27 हजार 646 सैंपलों की जांच की गई, जिसमें यह नए केस मिले हैं। प्रदेश में पॉजिटिविटी दर भी 1.18 से बढ़कर 2.52 प्रतिशत हो गई है। प्रदेश में कंटेनमेंट जोन की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। इधर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि देश में तीसरी लहर की शुरुआत हो गई है। कोरोना के केस ऐसी ही बढ़ते रहे तो कड़े फैलने लेने होंगे।

स्वास्थ्य विभाग के राज्य कंट्रोल एंड कमांड सेंटर द्वारा जारी कोरोना बुलेटिन के अनुसार रायपुर में सबसे ज्यादा 222 नए केस मिले हैं। इसके बाद बिलासपुर में 133, रायगढ़ में 103, दुर्ग में 43, कोरबा में 39, दुर्ग, जांजगीर-चांपा में 26, सूरजपुर में 22, राजनांदगांव में 18, मुंगेली-जशपुर में 13-13, सरगुजा में 12, कवर्धा में 9 और बलौदाबाजार व कांकेर में 5-5 नए केस मिले हैं। प्रदेश के 5 जिलों में कोरोना के एक भी केस सामने नहीं आए हैं। 698 नए संक्रमितों को मिलाकर अब प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या 1942 पहुंच गई है। प्रदेश में रायपुर, रायगढ़, बिलासपुर व दुर्ग सबसे हॉट जोन बने हुए  हैं।

error: Content is protected !!