Breaking News
.

सीबीआई को घोटाले के अहम दस्तावेज हाथ लगे, केंद्रीय एजेंसी जब्त कागजात की कर रही जांच ….

नई दिल्ली। सीबीआई एसीबी पटना की टीम ने खेल आयोजन से जुड़े कई टेंडर पेपर, भुगतान संबंधी मेमो, खेल सामग्रियों की खरीद व भुगतान से जुड़े दस्तावेज हासिल किए हैं। शुक्रवार को टीम ने सारे दस्तावेज एनजीओसी कार्यालय से हासिल किए। गुरुवार को भी सीबीआई टीम एनजीओसी कार्यालय गई थी। जहां ताला तोड़कर कई कागजात की जांच की गई थी।

रांची में 34 वें राष्ट्रीय खेल के आयोजन के लिए निर्माण व खेल सामग्री की खरीद में गड़बड़ी को लेकर सीबीआई ने दूसरे दिन शुक्रवार को भी कार्रवाई की। बताया जाता है कि इस दौरान सीबीआई को गड़बड़ी से जुड़े कई अहम दस्तावेज हाथ लगे हैं। सीबीआई की टीम इन दस्तावेजों की जांच में जुट गई है। बता दें कि इससे पहले गुरुवार को रांची, धनबाद,पटना और दिल्ली समेत 16 ठिकानों पर छापेमारी की गई थी।

जानकारी के मुताबिक, खेल आयोजन के इवेंट के पेमेंट में भी गड़बड़ी सामने आयी है। इवेंट कंपनी को आयोजन समिति ने भुगतान कर दिया था, लेकिन जिस कंपनी को भुगतान किया गया, उसने इवेंट किया ही नहीं। उसे दी गई अग्रिम राशि भी नहीं वसूली गई।

सीबीआई ने पूरे मामले में 22 अप्रैल को दो एफआईआर दर्ज की थी। इस मामले में हाईकोर्ट के फैसले के बाद एसीबी से जांच लेकर सीबीआई को सौपी गई थी। पूरे मामले में सीबीआई विधानसभा कमिटी की रिपोर्ट को भी जांच का आधार बनाएगी।

सीबीआई की टीम ने गुरुवार को नामजद आरोपियों आरके आनंद, एसएम हाशिमी, मधुकांत पाठक, पीसी मिश्रा, पूर्व मंत्री बंधु तिर्की के अलावा सभी वैसे लोगों के यहां छापेमारी की थी जो टेंडर समिति में शामिल थे। झारखंड एसीबी ने टेंडर में गड़बड़ी के आधार पर कई लोगों पर चार्जशीट भी दायर की थी।

पूछताछ में यह बात सामने आयी है कि प्रेम ने कोलकाता में रियल स्टेट में बड़ा निवेश कराया है। मनी लाउंड्रिंग कर पैसा कोलकाता पहुंचाने की बात प्रेम ने कबूली है। यह बात भी सामने आयी है कि साहिबगंज के एक जेवर व्यवसायी से सोने की खरीद की गई है। नौकरशाहों से ट्रांसफर- पोस्टिंग के नाम पर उगाही व उनके मार्फत लाभ कमाने की बात भी सामने आयी है।

error: Content is protected !!