Breaking News

लेखक की कलम से

लेखक की कलम से

काव्य बुलेटिन के तीसरे अंक का प्रसारण 19 सितम्बर को आकाशवाणी से …

हिंदी पखवाड़े के अवसर पर सुनिए क्षेत्र के बेहतरीन कवियों को   बिलासपुर।  आकाशवाणी बिलासपुर 103.2 mega Hz पर काव्य बुलेटिन का प्रसारण 19 सितम्बर शाम 5.30 बजे होगा। जिसकी रिकॉर्डिंग सम्पन्न हुई मुख्य अतिथि हाईकोर्ट की वरिष्ठ वकील एवं साहित्यकार अन्नपूर्णा तिवारी थी। इस अवसर पर उन्होंने सभी रचनाकारों …

Read More »

यादे …

  यादे, प्यारी यादे, ताज़ा हो जाती है, बरखा आने से, कुछ गीत गाने से, कुछ गुनगुनाती हूँ, कुछ अश्क बहाती हूँ, कि सब याद आते है, वो आँगन अपना था, प्यारा एक सपना था, संग संग खेला था, कुछ दर्पण भी तोड़ा था, वो पापा संग, भाई बहना संग, …

Read More »

“सच और झूठ”…

सच बड़ा ही बदतमीज़ और झूठ तमीज़दार है   सच बड़ा ही कड़वा और झूठ में मिठास है   सच के बड़े ही लफड़े हैं झूठ आरामगाह है   सच और गुलाब घिरे कांटों से झूठ की मौज बहार है   सच बर्दाश्त नहीं होता झूठ में जीता संसार है …

Read More »

निमंत्रण…

निमंत्रण रहा हिसाब-किताब की  दुनियां से बाहर आना जहाँ अँधेरा नहीं है जलती हुई धूप नहीं है जहाँ है शांति , है उजाला है क्षमा , है प्रेम …   जहाँ हिंसा की आग किसी की आँख में नहीं जलती कोई पक्षी अमंगल के गीत नहीं गाता !   खुशियों …

Read More »

खेल हैदराबादी! : क्या चलेगा इस बार यूपी में ?…

चन्द महीने बाद यूपी की 18वीं विधानसभा के चुनाव में इतिहास फिर भूगोल से टकरायेगा। सात दशक पूर्व यूपी के जिन्नावादी मुस्लिम लीग ने निजामशाही हैदराबाद को आजाद गणराज्य बनने में मदद की थी। यदि हो जाता तो, काजीपेट के लिये बीजा लेना पड़ता! कश्मीर में यही अवधी मुल्ले काफी …

Read More »

डर…

(लघुकथा) – रूही, क्या हुआ बच्चा कितनी परेशान क्यों हो? – माँ, देखो खून, देखो न… माँ। कितना खून बह रहा है। माँ, कसम से मैंने किसी से लड़ाई भी नहीं की। भईया ने मारा भी नहीं। देखो न पेंटी भीग गई। बेड भी गंदा हो गया, माँ। पेपर भी …

Read More »
error: Content is protected !!