Breaking News
.

ताजिये के जुलूस में आपित्तजनक नारे लगाने का मामला, उज्जैन के बाद खंडवा में भी 15 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज…

खंडवा। मध्यप्रदेश के उज्जैन में आपत्तिजनक नारे लगाए जाने का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि अब खंडवा में धर्म विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक नारे लगाए जाने का मामला सामने आया है। पुलिस ने तीन दिन के बाद इस मामले में कार्रवाई की है। उल्लेखनीय है कि अगले सप्ताह खंडवा में सीएम शिवराजसिंह चौहान का दौरा प्रस्तावित है, ऐसे में प्रशासन किसी भी स्तर पर इस मामले को तूल पकड़ने नहीं देना चाहता था। हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने सोशल मीडिया पर विरोध की चेतावनी भी दे डाली थी, परिणामस्वरूप पुलिस ने तबाड़तोड़ कार्रवाई की।

खंडवा में मोहर्रम के जुलूस के दौरान धर्म विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक नारे लगाए जाने की शिकायत के बाद कोतवाली पुलिस ने 15 आरोपियों के खिलाफ धार्मिक भावना भड़काने का मामला दर्ज किया है। कोतवाली थाने में इस मामले में आपराधिक प्रकरण दर्ज किया गया है। बुधवारा बाजार के ग्रुप द्वारा विगत 20 मार्च को ताजिया विसर्जन जुलूस के दौरान धर्म विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक नारे लगाए थे, इस बात की शिकायत कुछ हिंदू संगठनों ने पुलिस से की थी। मामले में जांच के बाद पुलिस ने 5 आरोपियों के खिलाफ नामजद एवं अन्य के खिलाफ धारा 153 ए, 295 ए, 147, 188, एवं 294 में अपराधिक प्रकरण दर्ज कराया गया है। जिन लोगों के नाम से मामला दर्ज किया गया है, उसमें फैज बादशाह, नईम, शाहरूख तिगाला, गुलाम कादरी और जुबेर जाटू प्रमुख हैं। इन पर धार्मिक भावना भड़काने का आरोप है।

ललित गठरे, सीएसपी ने कहा- ताजिया विसर्जन जुलूस में पाकिस्तान जिंदाबाद जैसे नारे लगाए जाने की शिकायत के संबंध में कोई साक्ष्य अथवा वीडियो फुटेज नहीं मिले हैं। यदि शिकायतकर्ता अथवा कोई अन्य सबूत उपलब्ध कराता है तो अन्य सेशन में भी कार्रवाई की जाएगी।

error: Content is protected !!