Breaking News
.

गणेश प्रतिमाओं के अपमान का मामला : नगर निगम के 9 कर्मचारी बर्खास्त, 2 को किया निलंबित…

इंदौर। अनंत चतुर्दशी के दिन विसर्जन के दौरान जवाहर टेकरी पर गणेश प्रतिमाओं के अपमान पर बवाल मचा हुआ है. कांग्रेस ने नगर निगम के अधिकारियों पर एफआईआर दर्ज करने की मांग को लेकर चंदननगर थाने का घेराव किया. हालांकि, नगर निगम ने लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मचारियों को बर्खास्त और 2 को सस्पेंड कर दिया है. इनमें 7 कर्मचारी, दो सुपरवाइजर्स के अलावा दो मॉनिटरिंग करने वाले अधिकारी शामिल हैं. नगर निगम ने इन कर्मचारियों के खिलाफ चंदन नगर थाने में एफआईआर भी दर्ज करा दी है. हालांकि, बीजेपी ने कांग्रेस नेताओं को धर्म के नाम पर राजनीति न करने नसीहत दी है.

 

सड़ांध भरे नाले में प्रतिमाओं के विसर्जन का आरोप

अनंत चतुर्दशी पर इंदौर के जवाहर टेकरी पर गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया. उसी का एक वीडियो वायरल हो गया. प्रतिमा विसर्जन की ड्यूटी पर लगाए गए नगर निगम कर्मचारी गणेश प्रतिमाओं का अपमानजनक तरीके से विसर्जन करते दिख रहे हैं. वीडियो वायरल होने के बाद बवाल मचा हुआ है.

 

कांग्रेसियों ने किया थाने का घेराव

इस मामले में कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला और शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने जवाहर टेकरी पहुंचकर हालात का जायजा लिया. उन्होंने यहां लोगों से बात की. उसके बाद चंदन नगर थाने का घेराव कर नगर निगम कमिश्नर और अपर आयुक्त के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की. उन्होंने कहा इस घटना ने देश के सबसे स्वच्छ शहर को शर्मसार कर दिया है. ये हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड़ है. गणेश प्रतिमाओं को सीवरेज के सड़ांध मारते गंदे पानी में फेंका गया और जब वीडियो सामने आया तो मामले को दबाने के लिए प्रतिमाओं को जेबीसी की मदद से जमीन में गाड़ दिया गया. अब नगर निगम छोटे कर्मचारियों पर कार्रवाई कर अपनी जिम्मेदारी से बच रहा है,जबकि इसमें बड़े अधिकारियों की लापरवाही है,इसलिए उन पर कार्रवाई होनी चाहिए.

 

बीजेपी ने दी राजनीति न करने की सलाह

बीजेपी ने इस मामले में कांग्रेस पर धर्म के नाम पर राजनीति करने का आरोप लगाया. बीजेपी प्रदेश मीडिया सह प्रभारी दीपक जैन टीनू ने कहा जो घटना हुई है उसमें दोषियों पर नगर निगम ने कार्रवाई कर दी है. उन्हें सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है. बीजेपी ने भी नगर निगम को ऐसी घटनाएं दोबारा न हो इसकी हिदायत दी है. ऐसे में कांग्रेस को भी राजनीति करने से बचना चाहिए

 

मामले को लेकर नगर निगम ने अफसोस जताया

उधर मामले को बढ़ता देख नगर निगम की कमिश्रर प्रतिभा पाल ने कहा लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मचारियों को बर्खास्त और 2 को सस्पेंड कर दिया गया है. इनमें 7 कर्मचारी, दो सुपरवाइजर्स के अलावा दो मॉनिटरिंग करने वाले अधिकारी शामिल हैं. प्रतिभा पाल ने कहा ये बहुत ही गंभीर मामला है. शहर के लोगों ने उनकी बात मान कर गणेश प्रतिमाओं को नदी तालाबों में विसर्जित न करके नगर निगम के पास जमा कराई थीं. ऐसे में हमारी जिम्मेदारी थी कि लोगों की धार्मिक भावनाओं का ख्याल रखा जाए.

 

सीएम शिवराज सिंह ने भी जताई थी नाराज़गी

इस मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तक अपनी नाराजगी व्यक्त कर चुके हैं और आम लोग भी नगर निगम के इस कृत्य से आक्रोशित हैं. अपने काम की दम पर शहर को चार चार बार सफाई में नंबर वन बनाने वाली नगर निगम की छवि पर भी बट्टा लगा है.

error: Content is protected !!