Breaking News
.

तीन साल बाद बढ़ा बस का किराया, अब यात्री 20 फीसदी अधिक राशि देकर करेंगे सफर…

पटना। बिहार में बसों का किराया बढ़ा दिया है। लगभग तीन साल के बाद बिहार राज्य पथ परिवहन निगम ने राज्य परिवहन की बसों के किराए में यह बढ़ोत्तरी की है। बढ़ा हुआ किराया बुधवार, 15 दिसंबर से लागू हो गया है। नई दरें लागू होने के बाद से बसों का किराया 18 से 20 फीसदी तक बढ़ गया है। बसों के किराए में हुई वृद्धि नॉन एसी, एसी और डीलक्स सहित सभी तरह की बसों पर लागू किया गया है। किराए में लगभग 20 से 26 रुपए की बढ़त हुई है। पटना-दरभंगा का किराया अब 136 रुपए से बढ़कर 193 रुपए हो गया है।

निगम का कहना है कि इसके पूर्व वर्ष 2018 में बस किराए में वृद्धि की गई थी। निगम पर लगातार बढ़ती देनदारी को नियंत्रित करने के लिए बस का भाड़ा बढ़ाया गया है। पटना से जिन 13 जिलों के लिए बसों का किराया बढ़ाया गया है उसमें बिहार शरीफ, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, दरभंगा, नवादा आदि जिले शामिल हैं।

पटना से बिहार शरीफ और मुजफ्फरपुर आने और जाने वाले यात्रियों को पहले 90 रुपए किराया देना पड़ता था, लेकिन अब भाड़ा बढ़कर 116 रुपए हो गया है। पटना से नवादा के लिए 112 रुपए की जगह 165 रुपए, पटना से बेतिया एसी बस का किराया 297 रुपए से बढ़ाकर 350 रुपए, पटना से औरंगाबाद का किराया 194 रुपये से बढ़कर 222 रुपए कर दिया गया है।

पटना से समस्तीपुर डीलक्स बस का किराया 155 रुपए, पटना से छपरा का किराया 116 रुपए, पटना से बक्सर का किराया 193 रुपए, पटना बाल्मीकि नगर एसी बस का किराया 451 रुपए, पटना-राजगीर एसी बस का नया किराया 193 रुपए कर दिया गया है। पटना-पूर्णिया एसी बस का किराया 468 रुपए हो गया है। यह पहले 410 रुपए था। पटना-कटिहार एसी बस का किराया अब 468 रुपए हो गया है, यह पहले 420 रुपए था।

error: Content is protected !!