Breaking News
.

BJP ने पुलिस के आला अफसरों को मल्टी विटामिन सिरप दी; कहा- आदिवासियों की पिटाई करने वाले विधायक पुत्र को अभयदान क्यों …..

​​​​​​​रायगढ़ । शुक्रवार देर रात कोतरा रोड थाने में घुसकर मारपीट करने के मामले में पुलिस ने रविवार देर रात एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि कांग्रेस विधायक प्रकाश नायक का बेटा रितिक नायक भी इसमें शामिल है। इसके बाद BJP ने विधायक पुत्र को बचाने का आरोप लगाया है। वहीं इस मामले में सोमवार को BJP नेताओं ने पुलिस अफसरों को मल्टीविटामिन सिरप सौंपी है। साथ ही कहा है कि आदिवासी की पिटाई करने वाले विधायक पुत्र को अभयदान क्यों दिया जा रहा है।

कोतवाली थाने में इस मामले में दो अलग-अलग FIR दर्ज कराई गई है। इसमें एक FIR ट्रेलर चालक मुलायम सिंह ने और दूसरी कोतरा रोड थाने के सिपाही बलजीत राठिया ने लिखवाई है। आरोप है कि रितिक ने साथियों के साथ पहले ट्रेलर रोककर ड्राइवर की पीटा फिर गाड़ी में तोड़फोड़ की। जब ड्राइवर शिकायत करने थाने पहुंचा तो विधायक पुत्र वहां भी पहुंच गया और वहां पुलिसकर्मियों के सामने मारपीट शुरू कर दी।

आरोप है कि इस दौरान पुलिसकर्मी बलजीत राठिया बीच-बचाव करने पहुंचा तो उन्हें गालियां दी और घूंसे मारे। कोतरा रोड थाना कोतवाली क्षेत्र में आने की वजह से उसकी FIR वहां दर्ज की गई है। अब आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने अलग-अलग टीम बनाई है, जो दबिश दे रही है। एक आरोपी रायगढ़ के बावली कुआं निवासी शुभम शर्मा को गिरफ्तार किया गया है। बताया जा रहा है कि अन्य आरोपियों की रायपुर और भिलाई में तलाश की जा रही है।

वहीं इस मामले में सोमवार को BJP नेताओं ने पुलिस अफसरों को मल्टीविटामिन सिरप सौंपी है । पार्टी का एक प्रतिनिधि मंडल SP से मिलने के लिए पहुंचा। उनसे मुलकात नहीं हुई तो एडिशनल SP को ज्ञापन सौंपा गया है। इसमें कहा गया कि विधायक पुत्र ने मारपीट की। पुलिस उसे हिरासत में भी नहीं ले पाई। जिन धाराओं में केस दर्ज किया गया है, वह भी संतोषजनक नहीं है। इसके चलते क्षेत्र की जनता में भय का वातावरण बन रहा है।

विधायक प्रकाश नायक ने कहा है कि मेरे लड़के से मारपीट हुई, मैने भी आवेदन दिया है। जांच सही तरह करने के लिए कहा है। मेरे लड़के के खिलाफ FIR गैर अज़मानतीय है। मेरे बेटे को भी सामने वालों से मारपीट की है। उस मारपीट के बाद हमारे पक्ष से भी एक शिकायत पुलिस थाने में की है, जो भी दोषी होगा, उसमें क्यों ना मेरा बेटा ही शामिल हो, पुलिस कार्रवाई करे, लेकिन मैने पुलिस को कहा हैं कि वह मामले की जांच अच्छे से कर लें।

error: Content is protected !!