Breaking News
.

बीरभूम हिंसा: टीएमसी की आपसी कलह में हुआ नरसंहार, पर ममता बनर्जी बोलीं- ‘बाहरी साजिश’ लगती है ….

बीरभूम। बंगाल के बीरभूम जिले में टीएमसी के ही कार्यकर्ताओं में खूनी जंग के चलते 8 लोगों की मौत पर ममता बनर्जी ने किसी ‘बाहरी साजिश’ को वजह बताया है। गुरुवार को मृतकों के परिजनों से मिलने पहुंचीं ममता बनर्जी ने कहा कि पुलिस की तैनाती में इजाफा कर दिया गया है। गांव में महिलाएं भी हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने भी इस घटना के पीड़ितों और उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की थी।

इसके साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि वे लोग साजिश करने वाले लोगों को माफ न करें। बीरभूम के रामपुर हाट पहुंचीं ममता बनर्जी ने मृतकों के परिजनों के लिए 5 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया। इसके साथ ही सरकारी नौकरी देने का वादा भी किया गया है।

कुछ लोग उन पर हमला करने के लिए बाहरी लोगों को लेकर आ सकते हैं। इस पूरे मामले में कोई बाहरी साजिश नजर आती है। सोमवार की रात को हुई हिंसा में 8 लोग जिंदा जला दिए गए थे। इस वीभत्स कांड को लेकर कहा जा रहा है कि टीएमसी के ही दो गुटों के बीच अवैध खनन को लेकर विवाद था और इसी के चलते यह हिंसा हुआ है। इस बीच बीरभूम में हुए अग्निकांड पर उच्च न्यायालय में एक बार फिर से सुनवाई शुरू हो चुकी है। सुनवाई के दौरान पीड़ितों के वकील ने कहा कि ममता बनर्जी ने घटनास्थल का दौरा किया है। पीड़ितों के लिए मुआवजे का ऐलान कर दिया है।

इससे पीड़ितों की राय को बदला जा सकता है। इसके अलावा तथ्यों से भी छेड़छाड़ करने में मदद मिल सकती है। यही नहीं वकील ने इस पूरे मामले की तुलना गुजरात के चर्चित बेस्ट बेकरी कांड से भी की। बीरभूम पहुंचीं ममता बनर्जी ने कहा कि लोगों की हत्या करना निंदनीय है। इसी तरह से घरों को जलाया जाना भी दुखद है।

इसके साथ ही ममता बनर्जी ने कहा कि इस मामले में किसी भी तरह का बहाना प्रशासन नहीं बना सकता है और उसे दोषियों को गिरफ्तार करना ही होगा। जो लोग भी 60 फीसदी से ज्यादा जल गए हैं, मैं उन्हें हेलिकॉप्टर के जरिए इलाज के लिए पहुंचाना चाहूंगी। उन्होंने कहा कि हर पीड़ित परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी।      

error: Content is protected !!