Breaking News
.

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हिंसा को लेकर भाजपा पर साधा निशाना, कल बीरभूम का करेंगी दौरा …

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में हुईं हिंसा और मौतों पर भाजपा ने ममता सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया है। हिंसा के बाद ममता सरकार पर सवाल उठने लगे हैं। इस बीच घटना के एक दिन बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस हिंसा के पीछे विपक्षी दल भाजपा का हाथ होने के संकेत दिए।

बीरभूम जिले में रामपुरहाट के बोगतुई गांव में मंगलवार को तड़के करीब एक दर्जन मकानों में कथित तौर पर आग लगा देने से दो बच्चों समेत कुल आठ लोगों की जल कर मौत हो गई। यह घटना सोमवार को तृणमूल कांग्रेस (TMC) के पंचायत स्तर के नेता भादू शेख की कथित हत्या के कुछ घंटों के भीतर हुई।

ममता बनर्जी ने कोलकाता के एक सरकारी कार्यक्रम में कहा, ‘हम सरकार चला रहे हैं। हम हत्या, खूनखराबा और बम विस्फोट हों, ऐसे क्यों चाहेंगे? इस तरह की चीजें जो सत्ता में नहीं हैं उनकी ओर से सिर्फ सरकार को परेशान करने और हमें बदनाम करने के लिए की जाती हैं।’ इसके साथ-साथ ममता बनर्जी ने कहा कि वह गुरुवार को बीरभूम के रामपुरहाट का दौरा करेंगी।

ममता बनर्जी ने कहा, ‘मैं कल वहां जा रही हूं। मैंने आज ही वहां जाने की योजना बनाई थी, लेकिन कुछ राजनीतिक दल वहां पहुंचकर मिठाई खा रही हैं। ऐसे में मैं वहां नहीं जाना चाहती थी जब विपक्षी दल वहां हों। मैं उनके साथ बेवजह झगड़ा नहीं करना चाहती।’ बता दें कि मंगलवार को माकपा नेताओं की एक टीम घटनास्थल का दौरा की। वहीं, बुधवार को भारतीय जनता पार्टी के विधायकों का एक दल वहां पहुंचने वाले हैं।

ममता बनर्जी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि वे पहले ही पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की कीमतों में बढ़ोतरी कर चुके हैं। ध्यान भटकाने के लिए वे हिंसा करते हैं। फिर वे मीडिया में बयान देने के लिए राज्यपाल को फोन करते हैं। ममता बनर्जी ने कहा कि पश्चिम बंगाल की आबादी 10 करोड़ है। घटना सुदूर गांव में हुई। हमने इसकी निंदा की और तत्काल कार्रवाई की।

इस तरह की घटनाएं, इससे भी बड़ी, उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, राजस्थान और बिहार में होती हैं। हम सफाई नहीं दे रहे हैं। हम सिर्फ यह बताने की कोशिश कर रहे हैं कि अपराध हुआ है और कार्रवाई की जाएगी।

error: Content is protected !!