Breaking News
.

जैसे को तैसा के तहत ब्रिटेन से आने वालों पर शुरू हुई सख्ती, 10 दिन क्वारैंटाइन में रहेंगे 700 यात्री …

नई दिल्ली । ब्रिटेन से भारत आने वाले लोगों पर नए नियमों के तहत सख्ती शुरू हो गई है। सोमवार को दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर लैंडिंग करने वाले 700 लोगों को 10 दिनों के अनिवार्य क्वारैंटाइन में भेज दिया गया। इससे पहले इन सभी लोगों का आरटीपीसीआर टेस्ट भी किया गया। भारत सरकार की ओऱ से पिछले दिनों ही नए नियमों का ऐलान किया गया है। इसके तहत ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों को 10 दिनों के क्वारैंटाइन में रहना होगा। नए नियमों को रविवार रात को 12 बजे के बाद से ही लागू कर दिया गया है।

एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया कि सोमवार दोपहर तक यूके से तीन फ्लाइट्स आईजीआई एयरपोर्ट पहुंची हैं। इनमें से 700 यात्री उतरे हैं। इनमें भारतीयों के अलावा बड़ी संख्या में ब्रिटिश नागरिक भी हैं। नए नियमों के मुताबिक ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों के लिए भारत आते ही आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट पेश करना जरूरी होगा। इसके अलावा एयरपोर्ट पर भी एक बार टेस्ट होगा। यही नहीं 10 दिन का क्वारैंटाइन पीरियड पूरा होने के बाद एक बार फिर से आरटीपीसीआर टेस्ट कराना होगा। अधिकारी ने बताया, ‘इस पूरी प्रक्रिया के लिए दिल्ली सरकार की एक टीम को एयरपोर्ट पर लगाया गया है। यह टीम यात्रियों से उनके पते आदि के बारे में जानकारी लेती है कि वे दिल्ली में कहां जा रहे हैं या कहां रुकेंगे।’

इसके अलावा एक टीम को इसलिए तैनात किया जाएगा कि वह यह सुनिश्चित करे कि क्वारैंटाइन के नियमों का पालन किया जा रहा है या नहीं। दरअसल ब्रिटिश सरकार ने भारत में जारी होने वाले कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट को अब तक मान्यता नहीं दी है। इसके चलते भारत में टीका लगवाने के बाद भी ब्रिटेन में अनवैक्सिनेटेड माना जा रहा है। इससे भारत के लोगों को वहां क्वारैंटाइन आदि नियमों का पालन कर रहा है। भारत ने इसमें छूट की मांग की थी, लेकिन ब्रिटेन की ओर से ऐसा न किए जाने पर करारा जवाब देते हुए भारत सरकार ने भी उसके जैसे ही नियम लागू कर दिए हैं।

इससे ब्रिटेन से आने वाले लोगों को टीका लगवाने के बाद भी क्वारैंटाइन में रहना होगा। बता दें कि भारत की ओर से ब्रिटेन और कनाडा के लिए ई-वीजा फैसिलिटी को भी खत्म कर दिया गया है। अब ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों को रेगुलर स्टाम्प वीजा लेकर ही आना होगा। भारत से जाने वाले लोगों पर तमाम पाबंदियां लागू किए जाने के बाद भारत ने इन दोनों देशों से आने वाले लोगों के लिए वीजा को लेकर यह फैसला लिया है।

error: Content is protected !!