Breaking News
.

इंदौर के भ्रष्ट मानचित्रकार की कलाकारी उजागर : 2031 तक के सभी मास्टर प्लान घर में मिले, 10 से अधिक बैंक खातों का खुलासा …

इंदौर। उज्जैन ईओडब्ल्यू विभाग द्वारा देवास में पदस्थ टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के मानचित्र कार के घर गुरुवार सुबह 6 बजे छापामार कार्रवाई की गई थी। गुरुवार को 14 घंटे चली सर्चिंग की कार्रवाई में कई अहम दस्तावेज ईओडब्ल्यू विभाग को मिले हैं, जिसमें वर्ष 2031 की इंदौर व देवास की मास्टर प्लानिंग के नक्शे भी विजय दरियानी के घर से बरामद हुए हैं।

19 लाख रुपए नकद के साथ-साथ लग्जरी लाइफ जीने वाला विजय इंदौर के नामी बिल्डरों के संपर्क में था, और उन्हें आने वाली प्लानिंग की पहले ही जानकारी देकर करोड़ों रुपए कमाता था। विभाग को 10 बैंक खातों की जानकारी मिली है, जिसमें लगभग करोड़ों के ऊपर रुपए मिलने के आसार हैं।

ईओडब्ल्यू एसपी दिलीप सोनी के अनुसार दीपक के घर में इंदौर टाउन एंड कंट्री प्लानिंग की कई फाइलें बरामद हुई है, जबकि विजय दरियानी का 5 वर्षों पहले ही इंदौर से देवास तबादला हो चुका था। इसके बावजूद भी इंदौर टाउन एंड कंट्री प्लानिंग की फाइलें मिलना कई सवालिया निशान खड़े करती है, जिसके लिए अब ईओडब्ल्यू विभाग एक पत्र के माध्यम से यह जानकारी लेगा कि इंदौर ऑफिस में वह कितने कर्मचारी और अधिकारी है जो कि विजय दरियानी के लगातार संपर्क में थे।

ईओडब्ल्यू एसपी दिलीप सोनी ने बताया कि दरियानी के घर से इंदौर से संबंधित कई फाइलें मिली हैं। इसके चलते उसके खिलाफ पद के दुरुपयोग का केस अलग से दर्ज किया जा रहा है। वहीं वह किन लोगों के साथ मिलकर देवास में रहते हुए भी इंदौर में खेल कर रहा था, उनके बारे में उससे पूछताछ की जाएगी। इसके अलावा छापे के दौरान उसके घर से ऐसे कई दस्तावेज मिले हैं, जो दूसरों के नाम पर हैं। इन सभी लोगों को नोटिस दिया गया हैं। जांच के बाद ऐसे सभी लोगों को भी आरोपी बनाया जाएगा।

जोडिएक मॉल में 1200 स्क्वेयर फीट के शोरूम के दस्तावेज दरियानी के यहां छापे में उसके मकान, फॉर्म हाउस और दुकानों की जानकारी मिली थी। जब्त दस्तावेज की जांच में स्कीम नंबर 140 स्थित जोडिएक मॉल में 1200 स्क्वेयर फीट के एक शोरूम के भी दस्तावेज मिले हैं। इसकी जानकारी नगर निगम और रजिस्ट्रार से एकत्रित की जा रही है।

error: Content is protected !!