Breaking News
.

शरद पवार पर ट्वीट कर फंसा एक और शख्स, हिरासत में भेजा गया …

मुंबई। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार के खिलाफ सोशल मीडिया पोस्ट पर पुलिस कार्रवाई का एक और मामला सामने आया है। ठाणे पुलिस ने फार्मेसी के छात्र निखिल भामरे को नासिक से गिरफ्तार किया है। ठाणे पुलिस ने भामरे की तीन दिनों की न्यायिक हिरासत की मांग की है। जबकि, छात्र के वकीलों ने इसका विरोध किया है। उन्होंने कहा है कि यह बाद में दर्ज की गई FIR है, क्योंकि शुरुआती FIR नासिक में दर्ज की गई थी, जिसके चलते छात्र पहले ही न्यायिक हिरासत में है।

खबर है कि ठाणे पुलिस नासिक से एक युवक को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। खास बात है कि इससे पहले मराठी एक्ट्रेस केतकी चिताले के खिलाफ भी इसी तरह की कार्रवाई हुई थी। उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया था।

भामरे के वकील सुरेश कोलटे और आदित्य ने जमानत के लिए आवेदन दे दिया है, जिसपर इस सप्ताह सुनवाई की जाएगी। वकीलों ने कोर्ट को बताया कि छात्र का 6वें सेमेस्टर की परीक्षा थी और गिरफ्तारी के कारण वह छूट गई।

रिपोर्ट के अनुसार, भामरे ने 11 मई को ट्विटर पर बारामती के एक नेता को लेकर ट्वीट किया था। बारामती पवार का क्षेत्र है। इसके बाद राकंपा नेता और मंत्री जीतेंद्र आवहाड ने भामरे के ट्वीट को लेकर ट्वीट किया और साथ में मुंबई पुलिस, ठाणे पुलिस और महाराष्ट्र पुलिस निदेशक को टैग किया। उन्होंने छात्र के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

इसके तुरंत बाद ही भामरे को पहले नासिक पुलिस ने गिरफ्तार किया और दो दिनों की पुलिस हिरासत के बाद स्थानीय कोर्ट ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया। हालांकि, जिस दिन छात्र को न्यायिक हिरासत में भेजा गया, तब ठाणे से पुलिसकर्मी भी वहां नौपाड़ा पुलिस स्टेशन में दर्ज FIR को लेकर हिरासत की मांग कर रहे थे।

भामरे के पिता श्यामराव भामरे ने वकील के जरिए महाराष्ट्र पुलिस निदेशक को पत्र भेजा है, जिसमें कहा गया है कि अलग-अलग FIR दर्ज नहीं की जानी चाहिए, क्योंकि उन्हें पता है कि मुंबई के गोरेगांव पुलिस स्टेशन में भी एक अन्य मामला दर्ज किया गया है।

error: Content is protected !!