Breaking News
.

नहीं छोड़ेंगे अमित जोगी मरवाही : वोट नहीं न्याय मांगेंगे जनता से ….

गौरेला। अमित जोगी और डॉ. ऋचा जोगी के नामांकन पत्र निरस्त हो जाने के बाद लोग यह जानना चाह रहे हैं कि जोगी परिवार का अगला कदम क्या होगा। इसके लिए कुछ दिन इंतजार करना पड़ेगा लेकिन अमित जोगी ने यह संकेत जरुर दे दिया है कि मरवाही की जनता के बीच वे वोट मांगने नहीं बल्कि न्याय मांगने जाएंगे। इस बात से यह स्पष्ट है कि जोगी कांग्रेस पूरे चुनाव में अपनी भूमिका निभाएगी।

नामांकन रद्द होने के बाद जो तूफान की स्थिति थी उसी को शायद सामान्य स्थिति में लाने के लिए अमित जोगी अमरकंटक चले गए। वहां उन्होंने बाबा कल्याणदास से मुलाकात की। अपने पिता स्वर्गीय अजीत जोगी की आत्मकथा पुस्तक भेंट की। बाबा कल्याणदास के साथ स्वर्गीय अजीत जोगी व उनके परिवार के लोगों से आत्मीय संबंध रहे हैं। आज की जो परिस्थिति निर्मित हुई है उसपर भी शायद चर्चा हुई होगी। बाबा कल्याण दास ने अमित जोगी को आशीर्वाद भी दिया। गौरेला पहुंचने के बाद दिल्ली बुलेटिन से खास बातचीत करते हुए अमित जोगी ने बताया कि राजमेड़गढ़ में स्वर्गीय अजीत जोगी के मितान (परम मित्र) हरि सिंह पोर्ते से भेंट कर उन्हें वर्तमान राजनीतिक परिस्थितियों से अवगत कराया। यहाँ उन्होंने अपने समर्थकों के साथ पार्टी की आगे की रणनीति के बारे में भी परामर्श किया।

इस सम्बंध में अमित जोगी ने बताया कि भले ही जोगी परिवार को बदले की दुर्भावना से मरवाही के उप चुनाव से अलग कर दिया है लेकिन जोगी परिवार को कभी भी मरवाही के लोगों के दिलों से अलग नहीं किया जा सकता। अमित ने कहा कि मैं मरवाही का नेता नहीं बल्कि बेटा हूँ और यहाँ के सभी दलों के लोगों के लिए मेरे दिल में प्यार है, इसीलिए मैं किसी के न तो पक्ष में बोलूँगा न ही विरोध में।

अमित ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जोगी से ज़्यादा जोगी के नाम से डरते हैं। उन्होंने जीते स्वर्गीय अजीत जोगी को अपमानित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी और उनके मरणोपरांत भी उनके शोकाकुल परिवार का पीछा नहीं छोड़ रहे हैं। वे लगातार जोगी परिवार को खत्म करने की साज़िश कर रहे है। इस साज़िश की सबसे ताज़ी कड़ी बदलापुर और जोगेरिया के कारण मुख्यमंत्री का अपने पद का खुला दुरुपयोग करके मेरा और मेरी पत्नी डॉक्टर ऋचा जोगी का जाति प्रमाण पत्र और नामांकन रद्द करना है। अमित ने कहा की भूपेश बघेल ने मेरे परिवार के साथ अन्याय किया है और इसका जवाब उन्हें मरवाही की जनता देगी।

अमित ने कहा कि यह पहली बार होगा जब इस सदी में जोगी परिवार मरवाही की जनता के बीच वोट मांगने नहीं बल्कि वोट से कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण न्याय मांगने जाएगा।

error: Content is protected !!