Breaking News
.

कोर्ट की कड़ी फटकार के बाद चुनाव आयोग ने कोरोना के कारण आंध्रप्रदेश और तेलंगाना में टाले विधान परिषद के चुनाव ….

नई दिल्ली (पंकज यादव) । चुनाव आयोग यदि स्वतंत्र होकर काम करता और सही निर्णय लेता तो आज बंगाल और केरल सहित भारत भर में कोरोना विकराल रूप धारण नही किया होता। आज भारत में जितनी भी मौतें कोरोना से हुई है उसका जिम्मेदार भी है। कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बीच बंगाल सहित चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में विधानसभा चुनाव कराए जाने को लेकर आलोचना के बाद अब चुनाव आयोग ने आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में विधान परिषदों के लिए होने वाले द्विवार्षिकी चुनावों को टाल दिया है।

चुनाव आयोग ने कहा है, ‘EC ने इस मामले की समीक्षा की और निर्णय लिया कि COVID-19 की दूसरी लहर के कारण, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के विधान परिषदों के लिए द्विवार्षिक चुनाव कराना तब तक ठीक नहीं होगा, जब तक स्थिति में सुधार नहीं होता और माहौल चुनावों के अनुकूल नहीं हो जाता।’

चुनाव आयोग की ओर से जारी बयान के मुताबिक, आंध्र प्रदेश विधान परिषद के तीन और तेलंगाना विधान परिषद के 6 सदस्यों का कार्यकाल क्रमशः 31 मई 2021 और 3 जून 2021 को खत्म हो रहा है।

इन सीटों के लिए चुनाव कराने पर अब आयोग संबंधित राज्यों से इनपुट मिलने के बाद भविष्य में स्थिति के हिसाब से करेगा। हालांकि, इसके लिए कोई समय सीमा तय नहीं की गई है।

error: Content is protected !!