Breaking News
.

पूर्व सरपंच पत्नी व सास की हत्या करने के बाद ट्रेन से कटकर किया सुसाइड, रंजिश के चलते साला और सलहज को किया लहूलुहान …

खंडवा। जिले के मथेला गांव में गुरुवार-शुक्रवार की दरमियानी रात सनसनीखेज मामला सामने आया है। सास और साले के साथ पूर्व सरपंच की रंजिश चल रही थी। रात में भी दोनों के बीच विवाद हुआ था। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच में लिया है।यहां पूर्व सरपंच ने पहले पत्नी और सास कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी। साले और उसकी पत्नी को भी लहूलुहान कर दिया। इसके बाद खुद ने भी ट्रेन के सामने कूदकर जान दे दी।

मोघट रोड थाना क्षेत्र के सिहाड़ा में रेलवे ट्रैक पर शुक्रवार सुबह मथेला के रहने वाले राधेश्याम (45) पिता गोंडू जाति बलाही का शव मिला। शिनाख्ती के बाद पुलिस ने जांच शुरू की। पता चला कि राधेश्याम मथेला का पूर्व सरपंच है। इसके बाद जानकारी मिली कि वहीं के रहने वाले कालू और उसकी पत्नी रीनाबाई को अस्पताल में घायल अवस्था में भर्ती कराया गया। आसपास के लोगों से पूछताछ में मामले का खुलासा हुआ। पुलिस के मुताबिक सुसाइड से पहले राधेश्याम ने पत्नी कालीबाई (40) और सास शायरा (62) की कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद खुद भी ट्रेन के सामने कूद गया। राधेश्याम पेशे से मजदूर था। सास और कालू भी मजदूरी करते थे।

पुलिस के मुताबिक राधेश्याम और उसकी सास गांव में आमने-सामने रहते हैं। गुरुवार देर रात करीब 2 बजे राधेश्याम और उसकी पत्नी कालीबाई के बीच किसी बात पर झगड़ा हो रहा था। पास रहने वाली सास शायरा और कालू और उसकी पत्नी रीनाबाई आ गए। राधेश्याम इनसे भी झगड़ा करने लगा। गुस्से में राधेश्याम ने कालीबाई, शायरा, कालू और रीनाबाई पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। हमले में कालीबाई और शायरा की मौके पर मौत हो गई। वहीं, कालू और रीनाबाई खून से लथपथ हो गए। इसके बाद राधेश्याम ने भी घर से भाग कर ट्रेन के सामने कूद कर सुसाइड कर ली।

एडिशनल एसपी सीमा अलावा ने बताया कि प्राथमिक जांच में सामने आया है कि राधेश्याम की पहली पत्नी की चार साल पहले मौत हो गई थी। पहली पत्नी से भी उसे दो लड़के हैं, जिनकी शादी हो चुकी है। करीब डेढ़ साल पहले पड़ोस की रहने वाली कालीबाई के साथ उसका अफेयर हो गया। इसके बाद वह राधेश्याम के साथ पत्नी की तरह रहने लगी। यह बात कालीबाई के परिवार वालों को पसंद नहीं थी। इस बात को लेकर पहले भी कई बार विवाद हुआ था। इसी को लेकर रंजिश भी चल रही थी। कालीबाई ने 4 माह पहले ही जुड़वां बच्चों को जन्म दिया। फिलहाल, बच्चों उनकी दादी यानि राधेश्याम की मां के सुपुर्द किया है।

error: Content is protected !!