Breaking News
.

एंटी माफिया अभियान में प्रशासन : 3 बार और रेस्टोरेंट किए जमींदोज, इन्हीं में पिलाई गयी थी जहरीली शराब…

इंदौर। इंदौर में ज़हरीली शराब परोसकर कई युवाओं को मौत की नींद सुलाने वाला पैराडाइज क्लब और रिसोर्ट भी गुरुवार को मिट्टी में मिला दिया गया. शहर में चल रही एंटी माफिया और अवैध अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के दौरान ऐसी तीन बार और क्लब पर प्रशासन का बुलडोजर चल गया. पैराडाइज वही क्लब है जहां कुछ दिन पहले ही जहरीली नकली शराब पीने से 4 युवकों की मौत हो गयी थी.

 

इंदौर के कई युवाओं से उनकी जिंदगी छीन लेने वाला पैराडाइज क्लब एंड रिसोर्ट आज गुबार में हवा हो गया. यहां ज़हरीली शराब पीने से चार युवकों की मौत हुई थी. एंटी माफिया अभियान के तहत इंदौर में एक साथ तीन जगहों पर बड़ी कार्रवाई की गई. इनमें छोटा बांगड़दा का पैराडाइज पब, रीजनल पार्क के पास वीआईपी रेस्टोरेंट और बायपास का पंजाबी ढ़ाबा शामिल हैं. सब जमींदोज कर दिए गए.

 

विवादित अड्डों पर चला प्रशासन का बुलडोजर

जिन तीन बार और रेस्टोरेंटस पर कार्रवाई की गयी वो तीनों विवादित और असामाजिक गतिविधियों के लिए चर्चित थे. सभी को धराशायी कर दिया गया. पूरे प्रदेश में इन दिनों एंटी माफिया अभियान चलाया जा रहा है. नगर निगम, जिला प्रशासन और पुलिस विभाग की संयुक्त टीम ने इस बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया.

 

सारे अवैध काम, निर्माण भी अवैध

नगर निगम कमिश्रर प्रतिभा पाल ने बताया कि रीजनल पार्क के पास करीब 10 हजार स्क्वायर फीट पर बना देवेंद्र प्रताप सिंह और हैप्पी सलूजा का वीआईपी बार एंड रेस्टोरेंट जमींदोज किया गया. यहां अवैध निर्माण के साथ ही अवैध रूप से शराब परोसी जाती थी. वहीं इ्ंदौर बायपास पर सेज यूनिवर्सिटी के सामने करीब 10 हजार स्क्वायर फीट बना रूबल भाटिया का पंजाबी बाय नेचर बार को धराशायी किया गया. इसके साथ ही छोटा बांगड़दा रोड सांवरिया नगर के पास करीब 8 हजार स्क्वायर फीट पर बने लकी यादव के पैराडाइज बार को भी ध्वस्त कर दिया गया. इसमें पैराडाइज क्लब एंड रिसोर्ट, स्विमिंग पूल, बैठक हॉल और खुला क्षेत्र शामिल है.

 

पैराडाइज क्लब में चलती थी अनैतिक गतिविधियां

नगर निगम प्रशासन का कहना है पैराडाइज क्लब एंड रिसोर्ट में बिना अनुमति के अवैध रूप से निर्माण कार्य किए गए थे. यहां पर अवैध रूप से शराब परोसी और बेची जाती थी. इससे युवाओं पर बुरा असर पड़ रहा था साथ ही समाज के लिए भी ये हानिकारक था. इसी को ध्यान में रखते हुए एंटी माफिया अभियान के तहत तीन स्थानों पर रिमूवल की कार्रवाई की गई है.

error: Content is protected !!