Breaking News
.

समाज सेवक की मौत के आरोपी को गिरफ्तार करने को लेकर अभा कोली समाज व किसान कांग्रेस मोर्चा ने सीएम को सौंपा ज्ञापन…

जयपुर। अखिल भारतीय कोली समाज राजस्थान के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. पप्पू राम कोली व कांग्रेस किसान मोर्चा राजस्थान के प्रदेशाध्यक्ष राजेंद्र झुरिया ने राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पुलिस महानिरीक्षक, संभाग, भरतपुर और पुलिस अधीक्षक, करौली को ज्ञापन भेजकर सड़क दुर्घटना में किसान कांग्रेस कमेटी नादौती, (करौली) के ब्लॉक अध्यक्ष व अखिल आदिवासी मीणा महासभा के संस्थापक नाहर सिंह मीणा सदैव आमजन के हितों व सर्व समाज के लोगों की मांगो को लेकर, ब्लॉक, जिला व राज्य स्तर पर समाधान हेतू कार्य करते थे।

नाहर सिंह मीणा हंसमुख एवं मिलनसार व्यक्तित्व के धनी थे और टोडाभीम विधानसभा क्षेत्र के आलावा पूरे राज्य में जनसेवा का कार्य करते थे। 10 फरवरी को अपने खेत से फसल हेतू सामग्री लेने के लिए मोटरसाइकिल से दातासुती होकर गंगापुर सिटी जा रहें थे, लेकिन बाजारे की तलाई के पास गढ़खेड़ा की तरफ से तीव्र गति से लहराती हुई आ रहीं स्कार्पियो RJ 34 UA2440 ने विपरीत दिशा में जाकर नाहर सिंह मीणा सलावद को टक्कर मारी और जब नाहर सिंह मीणा सलावद गाड़ी के नीचे आ गया व गाड़ी में फंस गया तो गाड़ी को रोकने के बजाएं गाड़ी को आगे पीछे किया, जिससे नाहर सिंह मीणा की मौके पर ही मृत्यु हों गई।

राहगीरों ने गाड़ी को उल्टी करके इन्हें निकाला और नादौती अस्पताल पहुंचाया। आरोपी गाड़ी लेकर मौके से फरार हो गया। राहगीरों ने बताया की जीप चालक, छोटा लाल बैरवा / रंगली उर्फ रंगलाल बैरवा निवासी बरदाला तहसील नादौती जिला करौली था! पोस्टमार्डम के बाद अंतिम संस्कार कर दिया गया ।11 फरवरी को नाहर सिंह मीणा सलावद की पत्नी सपिता मीणा ने नादौती थाने में नामजद मुकदमा करवाया गया इसके बाबजूद अपराधी को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया है!

इसलिए अखिल भारतीय कोली समाज व किसान कांग्रेस मोर्चा निम्न मांगों पर उचित कार्यवाही करने की मांग करता हैं।कांग्रेस नेता व जनसेवक नाहर सिंह मीणा सलावद की मृत्यु कारित करने वाले आरोपी को शीघ्र गिरफ्तार कर, कठोर दण्ड दिलवाया जाएं। मीणा परिवार के मुखिया थे उनके नहीं रहने से उनकी पत्नी व तीन बच्चे है जिनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है, इसलिए इनके परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएं। मीणा के परिवार को आर्थिक सहायता के रूप मे 20 लाख रुपए की राशि राज्य सरकार द्वारा स्वीकृत की जाये! इस तरह की घटना करने वाले लोगों के खिलाप कठोर क़ानून बनाएं जाएं, जिससे ऐसी घटनाओं की पुनरावृति नहीं हो सके।

 

error: Content is protected !!