Breaking News
.

चंडीगढ़ निगम चुनाव में AAP की धमाकेदार एंट्री, 14 सीटों के साथ पहले नंबर पर, भाजपा का मेयर हारा, मिली 12 सीटें …

चंडीगढ़। चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव के परिणाम काफी चौंकाने वाले हैं। सभी 35 वार्डों पर परिणाम घोषित हो चुके हैं। अरविंद केजरीवाल की पार्टी आम आदमी पार्टी ने भाजपा और कांग्रेस के किलों को भेदकर 14 वार्डों में जीत हासिल कर ली है। हालांकि किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है। भाजपा और कांग्रेस ने क्रमश: 12 और 8 वार्ड जीते। एक सीट अकाली दल के खाते में आई है। विश्व की सबसे बड़ी पार्टी भारतीय जनता पार्टी दूसरे और कांग्रेस क्रमश: तीसरे स्थान पर रहे हैं।  भाजपा प्रत्याशी और सिटिंग मेयर रविकांत शर्मा को आप प्रत्याशी ने हरा दिया है।

चंडीगढ़ नगर निगम के 35 वार्डों पर सुबह नौ बजे से काउंटिंग शुरू हुई थी। राज्य चुनाव आयोग के मुताबिक, अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने 14 वार्डों में जीत हासिल की है। हालांकि आप पार्टी चुनाव प्रचार समिति के प्रमुख चंदर मुखी शर्मा हालांकि चुनाव हार गए। वहीं, भाजपा ने 12 वार्ड जीते, जबकि कांग्रेस ने 8 वार्ड और एक वार्ड अकाली दल के खाते में गया है।

बड़े नेताओं में भाजपा के पूर्व महापौर रविकांत शर्मा वार्ड नंबर 17 हार गए। यहां आप उम्मीदवार जसबीर सिंह ने जीत दर्ज की। वहीं, भाजपा प्रत्याशी और पूर्व मेयर दवेश मौदगिल चुनाव हार गए हैं। चंडीगढ़ निकाय चुनाव में भाजपा के अन्य दो पूर्व मेयर भी हारे हैं।

अब तक आम आदमी पार्टी ने वार्ड नंबर 1, 4,15, 17, 18,19, 21, 22, 23, 25, 26, 27, 29 और 31 पर जीत हासिल की है, जबकि वार्ड नंबर 2, 3, 6, 7, 9,11, 14, 32, 33 और 35 पर भाजपा ने जीत हासिल की है। जबकि कांग्रेस ने वार्ड 5, 10, 13, 27 और 34 पर कब्जा किया हैं। वार्ड नंबर 30 पर अकाली दल की जीत हुई है।

चुनाव परिणामों पर आम आदमी पार्टी ने खुशी जताई है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चुनाव परिणामों पर खुशी जताई। उन्होंने ट्वीट किया, “चंडीगढ़ नगर निगम में आम आदमी पार्टी की ये जीत पंजाब में आने वाले बदलाव का संकेत है। चंडीगढ़ के लोगों ने आज भ्रष्ट राजनीति को नकारते हुए AAP की ईमानदार राजनीति को चुना है। AAP के सभी विजयी उम्मीदवारों एवं सभी कार्यकर्ताओं को बहुत-बहुत बधाई। इस बार पंजाब बदलाव के लिए तैयार है।”

गौरतलब है कि शुक्रवार को हुए चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव में 60 फीसदी से ज्यादा मतदान दर्ज किया गया। वार्डों की संख्या 2016 में 26 से बढ़कर अब 35 हो गई है। परंपरागत रूप से हर पांच साल में होने वाले नगर निगम के चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिलती है, लेकिन आम आदमी पार्टी ने एंट्री लेकर इस चुनाव को और रोचक बना दिया है। वर्तमान नगर निकाय में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का बहुमत है। पिछले एमसी चुनावों में  भाजपा ने 20 और उसके पूर्व सहयोगी शिरोमणि अकाली दल को एक सीट जीती थी। कांग्रेस केवल चार सीटें जीतने में सफल रही थी।

error: Content is protected !!