Breaking News
.

शहर में तीन दिवसीय साहित्यिक महोत्सव जश्ने-जबां का होगा आयोजन, सौ कलाकार देंगे अपनी प्रस्तुति…

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ शासन संस्कृति विभाग एवं नगर निगम बिलासपुर के विशेष सहयोग से प्रदेश में साहित्य, कला, लोककला, संगीत व संस्कृति को बढ़ावा देने के उद्देश्य से प्रदेश की प्रतिष्ठित संस्था श्री सांईनाथ फॉउंडेशन द्वारा तीन दिवसीय संस्कृति एवं साहित्य महोत्सव जश्ने-ज़बां-एडिशन-2 का आयोजन आगामी 1, 2 व 3 अक्टूबर को प्रतिदिन शाम 5 बजे से होने जा रहा है। स्व.लखीराम अग्रवाल स्मृति सभागार में आयोजित इस भव्य महोत्सव के अंतर्गत देशभर से पहुंच रहे ख्यातिलब्ध साहित्यकार, वक्ता, संगीतकार, गायक व अन्य कलाकार अपनी प्रस्तुतियां देंगे। जिसमें कला, साहित्य, नृत्य, रंगमंच, चर्चा-परिचर्चा, संवाद के अलग-अलग सोलह सत्र आयोजित होंगे।

 

गौरतलब है कि इससे पूर्व जश्ने-ज़बां का पहला एडिशन रायपुर में इसी साल की फरवरी माह में सफलतापूर्वक आयोजित किया जा चुका है। जिसमें साहित्य, संगीत, नृत्य के क्षेत्र से प्रतिष्ठित कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियां दी थीं। इसी कड़ी में बिलासपुर शहर में जश्ने-ज़बां एडिशन-2 का आयोजन किया जा रहा है। फेस्टिवल डायरेक्टर आशीष राज सिंघानिया ने बताया कि क्षेत्रीय प्रतिभा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से यह आयोजन हो रहा है, जिसमें कलमकार की खोज 2021 (वरिष्ठ व कनिष्ठ वर्ग), युवा कवि सम्मेलन, शाम-ए-ग़ज़ल, परिचर्चा सत्र, शास्त्रीय नृत्य व गायन, क्लासिकल जुगलबंदी, रंग-ए-सूफ़ी, रंगमंच, छत्तीसगढ़ी लोककला व स्व.कुंवर बेचैन की याद में याद-ए-बेचैन के नाम से अखिल भारतीय कवि सम्मेलन आयोजित है। जिसके तहत नई प्रतिभाओं को मंच उपलब्ध कराने व स्थापित कलाकारों की प्रस्तुतियों से उन्हें लाभान्वित करने का प्रयास किया जा रहा है। तीन दिनों में सोलह सत्रों में आयोजित इस महोत्सव के अंतर्गत सौ से भी ज्यादा कलाकर मंच में अपनी प्रस्तुति देंगे।

 

फेस्टिवल के प्रभारी द्वय श्रीकुमार पांडेय, सुमित शर्मा ने जानकारी दी पहले दिन परिचर्चा में नवोदित कलमकारों के मार्गदर्शन के लिए साहित्यिक अकादमी पुरस्कार विजेता, डार्क हॉर्स व औघड़ के लेखक नीलोत्पल मृणाल, देश के बहुचर्चितगीत कवि व बॉलीवुड लिरिसिस्ट अमन अक्षर बिलासपुर आएंगे। युवा कवि सम्मेलन में प्रदेश की कुछ श्रेष्ठ साहित्यिक प्रतिभाओं से लोगों को रूबरू होने का मौका मिलेगा, पहले दिन का समापन युवा गायक परन राज भाटिया एवं अंकिता फ़ाटक के खूबसूरत आवाज़ों से सजे शाम-ए-ग़ज़ल के द्वारा होगा।

 

दूसरे दिन छत्तीसगढ़ी भाषा पर केंद्रित परिचर्चा में नंदकिशोर शुक्ल व लता राठौर हिस्सा लेंगी वहीं पोएट्री विथ ब्यूरोक्रेट्स में अजय पांडे ‘सहाब’, प्रेमप्रकाश शर्मा, आशुतोष चतुर्वेदी, दशरथ राजपूत, अरुण वर्मा की कविताएं लोगों को सुनने मिलेंगी। छत्तीसगढ़ी लोककला में आरती सिंह कृत सांस्कृतिक दल लोकचंदा व पंडवानी की उभरती कलाकारा दुर्गा साहू की प्रस्तुति होगी। रंगमंच पर अग्रज नाट्यदल बिलासपुर द्वारा ‘वेंटीलेटर’ का मंचन किया जाएगा, साथ ही दूसरे दिन का समापन नरिंदर पाल सिंह ‘निंदर’ एवं उनकी टीम द्वारा रंग-ए-सूफ़ी की प्रस्तुति दी जाएगी।

 

तीसरे दिन युवाओं को अवसर प्रदान करने के प्रयास के रूप में टीएलएफ द्वारा ओपन माइक का आयोजन किया जा रहा है। जिसके बाद छत्तीसगढ़ के लोक इतिहास की परिचर्चा में संभागीय आयुक्त डॉ. संजय अलंग की गरिमामय उपस्थिति रहेगी। शास्त्रीय गायन व नृत्य के सत्र में शहर की प्रतिभावान गायिका श्रद्धा मंडल, खुशी चक्रवर्ती, अंशी सोनी की खूबसूरत प्रस्तुतियां होंगी। क्लासिकल जुगलबंदी के सत्र में बनारस से पधार रहे युवा गायक अक्षत प्रताप सिंह व नगर के ही सितारवादक मनोज जायसवाल अपनी प्रस्तुतियां देंगे जिनके साथ तबले पर रामचंद्र सर्पे व पूनम सर्पे होंगे। तीन दिनी महोत्सव के समापन सत्र के रूप में याद-ए-बेचैन के अंतर्गत सुप्रसिद्ध शायर अजय सहाब, सुप्रसिद्ध शायरा मुमताज नसीम, हिंदी के सुप्रसिद्ध गीतकार अमन अक्षर, युवा कवियित्री मणिका दुबे, व अजय अटपटु शामिल होंगे।

 

कार्यकम में अन्य सहयोगी संस्थाएं हैं सी वी रामन विश्व विद्यालय, मौसाजी,  क्रेडाई,  ibc 24 न्यूज चैनल, यूनिटी हॉस्पिटल, दिल्ली बुलेटिन न्यूज़ पोर्टल, BADA, अनुश्री ऑटो, FM tadka, श्री बुक मॉल आदि हैं।

 

मीडिया प्रभारी नितेश पाटकर अनु चक्रवर्ती द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक़ कार्यक्रम की तैयारी में प्रमुख रूप से जिनेन्द्र पारख, मनोज शुक्ला, हर्षराज हर्ष, शिवम सोनी, अभिषेक पांडे, हीरामणि वैष्णव, तेजराम नायक, आरती सिंह, इंद्रजीत तिवारी, सृजन पांडे, ऐश्वर्य शर्मा, ब्रेंडन डिसूजा, सुनंदा शर्मा, प्रगति शर्मा, अंशी सोनी, श्रध्दा मंडल, धीरेंद्र साहू, तेज साहू, पारसमणि शर्मा, प्रेमिश शर्मा, रिकी बिंदास, संस्कार साहू, रोशनी पटेल, शशिभूषण स्नेही इत्यादि लगे हुए हैं।

error: Content is protected !!