Breaking News
.

रेलवे ट्रैक पर गिरी चट्टान, दुर्घटनाग्रस्त होने से बाल बाल बची राजधानी एक्सप्रेस …

नई दिल्ली (पंकज यादव) । शनिवार की सुबह नई दिल्ली-रांची राजधनी स्पेशल मानपुर पार कर गझंडी के आगे बासकटवा-नाथगंज के बीच घाट सेक्शन से गुजर रही थी। इसी बीच सुबह 5.17 बजे जोरदार आवाज के साथ भूस्खलन हुआ और कई चट्टान ऊंचाई से सरक कर रेल पटरी पर आ गए। रांची राजधानी स्पेशल का इंजन बोल्डर से टकरा गया। ट्रेन के लोको पायलट ने ट्रैक पर चट्टान लुढ़कते देख इमरजेंसी ब्रेक लगा दी। ट्रेन की रफ्तार धीमी होने के कारण इंजन बेपटरी होने से बच गई।

धनबाद रेल मंडल के धनबाद-गया रेलखंड पर शनिवार की सुबह बड़ी रेल दुर्घटना टल गई। मानपुर-कोडरमा सेक्शन के बासकटवा ब्लॉक हट-नाथगंज के बीच भूस्खलन से कई चट्टान भरभरा कर रेलवे ट्रैक पर आ गए। रेल पटरी पर आए बोल्डर से टकरा कर नई दिल्ली-रांची राजधानी एक्सप्रेस का इंजन क्षतिग्रस्त हो गया। लोको पायलट ने सूझबूझ से सही समय पर ट्रेन की गति को नियंत्रित कर हादसे का शिकार होने से बचा लिया। दुर्घटना की वजह से डाउन लाइन से धनबाद आ रही सियालदह राजधानी सहित कई अन्य ट्रेनें फंस गईं।

घटना की जानकारी गझंडी पीडब्ल्यूआई ने धनबाद कंट्रोल को दी। फौरन दुर्घटना राहत टीम कोडरमा से घटनास्थल पर पहुंची और तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद ट्रैक पर गिरे बोल्डरों को हटाया गया। इस दुर्घटना में रांची राजधानी के काऊ केचर व अन्य पुर्जे क्षतिग्रस्त हो गए। सुबह करीब 8.05 बजे राजधानी के आगे और पीछे एक-एक इंजन जोड़ कर ट्रेन को घटना स्थल से रवाना किया गया।

रांची राजधानी के ठीक पीछे नई दिल्ली-सियालदह राजधानी स्पेशल चल रही थी। दुर्घटना की वजह से डाउनलाइन बाधित हो गई। सियालदह राजधानी चार घंटे की देरी से यानी सुबह 6.18 बजे के बजाय सुबह 10.19 बजे धनबाद पहुंची। इसी तरह गाजीपुर सिटी-कोलकाता स्पेशल दो घंटे 35 मिनट, अजमेर-सियालदह स्पेशल दो घंटे 47 मिनट और जम्मूतवी-कोलकाता स्पेशल साढ़े तीन घंटे की देरी से धनबाद आई।

धनबाद डीआरएम आशीष बंसल नई दिल्ली-सियालदह राजधानी से धनबाद आ रहे थे। पिछले दिनों वे एक निजी कार्यक्रम में हिस्सा लेने दिल्ली गए थे। डीआरएम सीनियर डीईएन टू एलएम मीणा के साथ घटना स्थल पर पहुंचे और राहत कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया। निरीक्षण के बाद डीआरएम को लाइट इंजन (खाली इंजन) से धनबाद लाया गया।

धनबाद डिवीजन के पीआरओ पीके मिश्रा ने बताया कि भूस्खलन की वजह से यह दुर्घटना घटी। दुर्घटना में किसी यात्री को कोई नुकसान नहीं हुआ। बारिश के दिनों में घाट सेक्शन में भूस्खलन की घटनाएं होते रहती हैं। भविष्य में ऐसी घटना की पुनरावृत्ति नहीं हो इसके लिए डीआरएम ने सीनियर डीएसओ अरविंद कुमार राय और सीनियर डीईएन कोआर्डिनेशन अमित कुमार की दो सदस्यीय टीम का गठन किया है। टीम जल्द इस संबंध में सुझाव देगी।

error: Content is protected !!