Breaking News
.

गर्लफ्रेंड को पाने एक व्यापारी ने लिया तांत्रिक का सहारा, गर्लफ्रेंड तो नहीं मिली 43 लाख लुटाने के बाद पहुंचा पुलिस के पास …

अहमदाबाद । गर्लफ्रेंड को पाने के लिए एक व्यापारी तंत्र-मंत्र का सहारा लेने तांत्रिक के झांसे में ऐसा फंसा कि व अपना 43 लाख रुपया लुटा चुका। अभी तक माशुका मिलना तो दूर फोन में बात तक नहीं हो रही है। आखिरकार मोटी रकम लुटा चुके युवक अब पुलिस का चक्कर काट रहा है मगर बगैर सबूत के पुलिस एफआईआर दर्ज करने को तैयार नहीं।

अक्सर कहा जाता है कि तांत्रिकों के चक्कर में पड़ने पर लोग भारी मुसीबत में फंस जाते हैं। गुजरात के अहमदाबाद में भी ऐसा ही हुआ है। यहां के एक बड़े व्यापारी को तांत्रिक ने 43 लाख का चूना लगाया है। अहमदाबाद में इलेक्ट्रॉनिक गुड्स की दुकान चलाने वाले अजय पटेल की प्रेमिका ने उनसे बातचीत करना बंद कर दिया था। मकार्बा इलाके में अपना दुकान चलाने वाले अजय पटेल इस बात से काफी चिंतित थे और वो अपनी गर्लफ्रेंड को किसी भी कीमत पर पाना चाहते थे। इसी हसरत को पूरा करने के लिए अजय पटेल एक तांत्रिक से मिले।

अनिल जोशी नाम के इस तांत्रिक से उनका परिचय एक कॉमन फ्रेंड के जरिए हुए था। इस तांत्रिक ने अजय पटेल से वादा किया था कि वो तंत्र-मंत्र के जरिए उनकी प्रेमिका को वापस उनकी जिंदगी में ला देगा। इसके बाद तांत्रिक ने अलग-अलग तंत्र विद्या के नाम पर पैसे लिए। अजय पटेल के मुताबिक उन्होंने सबसे पहले मई 2020 में 11,400 रुपए दिए। इसके बाद से अब तक तांत्रिक को अलग-अलग मौकों पर कुल 43 लाख रुपए दिए।

तांत्रिक को पैसे देने के बाद अजय पटेल की समस्या का समाधान नहीं हुआ। इसके बाद अजय पटेल ने सरखेज थाने में जाकर शिकायत करने का फैसला किया। मीडिया से बातचीत में अजय पटेल ने कहा कि ‘मैंने सरखेज पुलिस स्टेशन में सभी सबूतों के साथ शिकायत दर्ज करवाई है। इसमें 400 से ज्यादा ऑडियो रिकॉर्डिंग भी है। मैंने पैसे ट्रांसफर किये जाने का सारा सबूत भी दिया है।’ बताया जा रहा है कि धोखाधड़ी में तांत्रिक की पत्नी गुरु धर्माजी भी शामिल है।

हालांकि, अजय पटेल का यह भी आरोप है कि थाने में शिकायत दर्ज करवाने में उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ा। पुलिस ने उनकी मदद नहीं की थी। आरोप यह भी है कि सारे सबूत देने के बाद भी पुलिस एफआईआर नहीं दर्ज कर रही है। बताया जा रहा है कि सरखेज पुलिस ने पहले मामले की छानबीन की और फिर इस केस को घटलोदिया पुलिस स्टेशन में ट्रांसफर कर दिया। पीड़ित के वकील  ने कहा कि ‘हम इस मामले में पुलिस कमिश्नर के पास इंसाफ के लिए जाएंगे।’

error: Content is protected !!