Breaking News
.

2 मिलियन टन कोयला उपलब्ध करा दिया गया है, अब बिजली की संकट नहीं होगी : प्रहलाद जोशी…

बिलासपुर। देश में कोयले की कमी से बिजली संकट आने की संभावना को ध्यान रखते हुए केन्द्रीय कोयला मंत्री आज बिलासपुर पहुंचे। यहां वे सड़क मार्ग से गेवरा खदान निरीक्षण करने के लिए चले गए। गेवरा से झारखंड के लिए रवाना होंगे।

चकरभाठा एयरपोर्ट पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए केन्द्रीय कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी ने कहा कि बिजली मंत्रालय ने हमसे 1.9 मिलियन टन कोयले की मांग की थी तथा 20 अक्टूबर के बाद 2 मिलियन टन की जरूरत बताई थी। हमने आज ही 2 मिलियन टन कोयले की सप्लाई कर दी है। जिससे अब देश में बिजली का संकट नहीं होगा।

मालूम हो कि केन्द्रीय कोयला मंत्री सुबह 11 बजे हेलिकाप्टर से गेवरा जाने वाले थे, लेकिन तकनीक खराबी के कारण वे सड़क मार्ग से गेवरा के लिए रवाना हुए। वहां से 3 बजे वापस आकर 4 बजे के करीब झारखंड के लिए रवाना होंगे। एयरपोर्ट पर कोयला मंत्री की अगुवाई करने नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, बिलासपुर सांसद अरुण साव, महिला बाल विकास की पूर्व अध्यक्ष हर्षिता पाण्डेय, विधायक रजनीश सिंह सहित अन्य उपस्थित थे।

हेलिकाप्टर से जाना था गेवरा

केन्द्रीय कोयला मंत्री हेलिकाप्टर से गेवरा जाने वाले थे, लेकिन व्यवस्था न होने के कारण सड़क मार्ग से गेवरा के लिए रवाना हुए। गौरतलब है कि कोल इंडिया के पास हेलिकाप्टर था जिसे 3 साल पहले दिल्ली मंगवाया लिया गया है।

error: Content is protected !!