Breaking News
.

बैंक से 37 लाख नकद समेत 15 लाख का लूटा सोना; ढाई महीने में लूट की छठी बड़ी घटना …

नई दिल्ली। अररिया में शुक्रवार सुबह-सुबह बैंक ऑफ इंडिया की शाखा में छह हथियारबंद बदमाशों ने बैंक ऑफ इंडिया की शाखा पर धावा बोल दिया। बदमाशों ने 37 लाख रुपए और 15 लाख का सोना लूट लिया। यह बिहार में ढाई महीने के अंदर हुई लूट की छठी घटना है। पुलिस का कहना है कि हथियारबंद लुटेरों के एक गिरोह ने बैंक कैशियर सितेश रंजन और शाखा प्रबंधक को घायल करने के बाद अपराध को अंजाम दिया। दोनों इस वारदात का विरोध कर रहे थे।

पुलिस अभी तक लुटेरों के ठिकाने का पता नहीं लगा पाई है और उनकी तलाश जारी है। घटना टाउन पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाले एडीबी चौक पर एसपी के आवास से बमुश्किल 250 मीटर की दूरी पर सुबह 9.40 बजे हुई। पुलिस ने कहा कि कम से कम छह हथियारबंद लोगों का एक गिरोह सबसे व्यस्त बस स्टैंड रोड पर पहली मंजिल पर स्थित शाखा में घुस गए और शाखा प्रबंधक अखिलेश कुमार सहित सभी को बंदूक की नोक पर बंधक बना लिया।

पुलिस ने बताया कि बैंक परिसर में जब सफाईकर्मी सफाई कर रहे थे उसी समय हथियारबंद डकैत शाखा में घुस आए। शाखा प्रबंधक ने बताया कि वह बाथरूम में बंद है जबकि शाखा का मुख्य द्वार भी अंदर से बंद है। बदमाशों ने बैंक गार्ड की बंदूक को भी तोड़ दिया और उसके छह जिंदा कारतूस छीन लिए।

नकाबपोश बदमाश अपने वाहनों से मौके पर पहुंचे और उनमें से छह लोग ग्राहक बनकर बैंक परिसर में घुस गए। बैंक के लुटेरे शाखा के कैशियर पर लोहे की बंद तिजोरी खोलने की चाबी देने का दबाव बनाने लगे। उन्होंने केवल तिजोरी में रखे पैसे पर ध्यान केंद्रित किया और उसे लूटकर भाग गए।

पुलिस ने बताया कि लुटेरों को बैंक लूटने में मुश्किल से 10 से 12 मिनट का समय लगा और फिर वे फरार हो गए। कैश लेकर जाने से पहले अपराधियों ने सीसीटीवी की डीवीआर निकाल ली। अररिया के एसपी अशोक कुमार सिंह ने कहा कि एफएसएल की एक टीम मौके पर पहुंची और घटना की जांच की। उन्होंने कहा, ‘लूट की सूचना मिलने के तुरंत बाद जिले की सीमा को सील कर दिया गया। घटना में शामिल संदिग्धों की गिरफ्तारी के लिए सघन छापेमारी की जा रही है।’ एसपी ने कहा कि पुलिस टीम शाखा के पास लगे सीसीटीवी फुटेज के जरिए लुटेरों की पहचान करने की कोशिश कर रही है।

error: Content is protected !!