Breaking News
.

पूर्व सीएम रमन सिंह के भांजे विक्रांत सिंह सहित 10 पर खैरागढ़ नगर पालिका मतगणना के दौरान तोड़फोड़ व हंगामे का आरोप, FIR दर्ज …

रायपुर । नगरीय निकाय चुनाव का परिणाम आने के बाद भाजपा-कांग्रेस के नेताओं में आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है तो वहीं प्रशासनिक व पुलिसिया कार्रवाई भी शुरू हो गई है। खैरागढ़ नगर पालिका परिषद के परिणामों के बाद मतगणना केंद्र पर हंगामा व तोड़फोड़ मामले में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के भांजे और राजनांदगांव जिला पंचायत के उपाध्यक्ष विक्रांत सिंह सहित 10 लोगों पर अपराध दर्ज किया गया है। रिटर्निंग ऑफिसर की लिखित शिकायत के बाद खैरागढ़ पुलिस थाने में दो अपराध दर्ज किए गए हैं।

बता दें कि राजनांदगांव के खैरागढ़ नगर पालिका परिषद में मतगणना पूरी होने के बाद एक सीट को लेकर हंगामा हो गया था। दरअसल यहां भाजपा के खाते में 10, कांग्रेस को 9 वार्डों में जीत मिली थी। वार्ड क्रमांक-4 में भाजपा प्रत्याशी कैलाश नागरे व कांग्रेस उम्मीदवार सुमित टांडिया के बीच टाई हो गया। दोनों प्रत्याशियों को 387-387 वोट मिले हैं। इसके बाद दो बार रीकाउंटिंग कराई गई, लेकिन नतीजा वहीं रहा। जब तीसरी बार रीकाउंटिंग हुई तो एक वोट से कांग्रेस प्रत्याशी सुमित टांडिया को विजयी घोषित किया गया।

कांग्रेस प्रत्याशी के जीत की घोषणा होते ही भाजपाइयों का गुस्सा फूट पड़ा। जिला पंचायत उपाध्यक्ष विक्रांत सिंह के साथ अन्य भाजपाई नारेबाजी करते हुए मतगणना केंद्र के अंदर घुस गए। मतदान केंद्र में रखी कुर्सियों को तोड़ दिया। मौके पर भाजपा कार्यकर्ता ने जमकर हंगामा मचाया। वहां रखी कुर्सियों को उठाकर पटके और धरने पर बैठ गए। भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया था कि अधिकारियों ने मिलीभगत कर कांग्रेस को जिताया है। बताया जा रहा है कि रिटर्निंग अफसर की ओर से अज्ञात और पुलिस की ओर से नामजद एफआईआर दर्ज की गई है।

error: Content is protected !!